कुँवारी चूत, कुँवारी कन्या की पहली चुदाई की कहानियां

बिना चुदी नंगी चुत की पहली बार चुदाई, कुँवारी चूत की हिंदी कहानी, कुँवारी कन्या के पहले सेक्स की स्टोरी

Kunvari chut ki Chudai ki Hindi Kahani

choot Sex Stories About First Time Sex with a Virgin Girl

Story about Defloration of a Virgin Girl.

अधखिला पुष्प

मेरी शादी हुये लगभग चार साल हो चुके थे। कुछ अभागी लड़कियों में से मैं भी एक हूँ। शादी के दिन मैं बहुत खुश थी। लगा था कि जवानी की सारी खुशियाँ मैं अपने पति पर लुटा दूंगी। मैं भी मस्ती से लण्ड खाऊंगी… कितना मजा आयेगा। पर हाय री मेरी किस्मत… सुहाग रात को […]

अनजानी लड़की

वो बाथरूम से हाफ शर्ट और मिनी स्कर्टपहन कर आ गई। क्या गोरी-गोरी जांघें थी उसकी! शर्ट में चूची तो उसकी पूरी कस ही गई थी। तब मेरा लण्ड और सख्त हो गया पर मैं चाहता था कि पहल वो करे।

कंप्यूटर की प्रॉब्लम

मैं सनी भोपाल से, मेरी उम्र 30 साल है। यह बात उस समय की है जब मैं कंप्यूटर का कोर्स कर रहा था। मुझे उस समय कंप्यूटर ठीक करने के लिए लोगों के घर पर भी जाना पड़ता था। एक बार की बात है, मेरे एक सीनियर ने मुझे एक पता दिया और कहा कि […]

नंगी चूत चुदाई की कहानी: काला हीरा

नंगी चूत चुदाई की कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे पड़ोस की कुंवारी लेकिन काले रंग की लड़की ने अपनी अन्तर्वासना के कारण अपनी चूत मेरे लंड से चुदवाई!

भाई बहन का प्यार-3

हर लड़की लड़का चोदते हैं जैसे तुम्हारी मम्मी पापा से चुदवाती है, तुम्हारी भाभी भैया से चुदवाती है, मेरी पत्नी मेरे से चुदवाती है, फिर तुम क्यों मना कर रही हो!

प्रगति का अतीत- 3

चूंकि प्रगति की चूत पूरी तरह गीली थी और वह मानसिक व शारीरिक रूप से पूर्णतया उत्तेजित थी, मास्टरजी का औसत माप का लिंग उसकी तंग योनि में थोड़ा घुस गया।

प्रगति का अतीत- 1

समाज के बुरे लोगों की नज़र गरीब घरों की कमसिन लड़कियों पर होती है। वे सोचते हैं कि गरीब लड़की की कोई आकांक्षा ही नहीं होती और वे उसके साथ मनमर्ज़ी कर सकते हैं।

लाडो रानी का उदघाटन समारोह

मैं संयुक्त परिवार में रहती थी, मैं चुदाई के लाइव सीन देख देख बड़ी हुई. मेरी जवानी भी अंगड़ाई लेने लगी. एक लड़का मुझे पटा गया. फिर क्या हुआ?

दो नौकरानियों की मस्त चुदाई -2

'अंकल जी, हाय चूत मार दी रे, मेरी फ़ुद्दी चुद गई, आह्ह मेरा माल निकला रे , हरामजादी... मेरी चूत फ़ोड़ डाली रे...' और उसने अपनी चूत सिकोड़ ली। राधा झड़ने लगी, उसका पानी निकलने लग गया था।

दो नौकरानियों की मस्त चुदाई-1

मैंने धीरे से उसकी छोटी छोटी चूंचियों को सहलाना चालू कर दिया। कभी कभी उसके निपल भी उमेठ देता था। वो सिसकारी भरने लगी- अंकल, हाय और करो, हाय अंकल!!!

कच्ची उम्र की गोरी

मैंने अब उसकी चूत को निहारा, बिल्कुल गुलाबी सा रंग, एक भी बाल न था उसकी चूत पर। अब तो सारा काम मुझे ही करना था। मैंने धीरे-धीरे उसकी चूत पर हाथ फिराना शुरु किया।

एक खुशनुमा सपना

मैं रीता से अलग हो गई और रोहित ने रीता को अपनी बाँहों में भर लिया, रीता भी रोहित से चिपक गई और रोहित रीता के स्तन दबाते हुए उसको रसीले होठों को चूसने लगा।

मस्तानी लौन्डिया-2

मैंने उसकी चूत की फ़ाँक खोल करके भीतर की गुलाबी झिल्ली की जांच की। साली सच में कुँवारी थी। सांवले बदन की निशु की चूत थोड़ी काली थी, जिससे उसके चूत का फ़ूल ज्यादा ही गुलाबी दिख रहा था।

मस्तानी लौन्डिया-1

अगले गेम में निशु हार गई और मुझे उसकी ब्रा खोलनी थी। वो आराम से मेरे सामने आ कर मेरी तरफ़ पीठ करके खड़ी हो गई, और पीठ से अपने बाल समेट कर सामने कर लिए, ताकि मैं उसके ब्रा की हुक खोल सकूँ।

नेहा की चूत खोली-2

प्रथम भाग से आगे : एक दिन वह फिर अपनी माँ के साथ कम्प्यूटर पर काम के बहाने आई। मैं समझ गया कि माल गर्म है। उसने कहा- आज बाकी की मूवी देखनी है। मैंने फिर वही डीवीडी लगा दी। चुदाई का सीन चलने लगा, वह गर्म हो रही थी। अचानक उसने मुझसे पूछा- क्या […]

वो अक्षत योनि की क्षति -1

मैं शादीशुदा हूँ। शादी किए हुए मुझे 2 साल हो गए हैं पर मैंने अभी तक अपना कौमार्य नहीं खोया है। क्या आप मुझे वह सुख दे सकते हैं जो मुझे मिलना चाहिए था।

जल्दी कुछ करो

हाय दोस्तो! सभी पाठको को रश्मि का नमस्कार! तीन महीने से भी ज्यादा से अन्तर्वासना की कहानियों की नियमित पाठक हूँ मैं! अब जाकर मुझमे भी एक जोश आया है कि अपनी कहानी आप सभी के साथ बाँट सकूँ! यह कहानी मेरे पहले सेक्स की है जब मैं ग्यारहवीं कक्षा में थी! मेरे स्कूल में […]

मन तो बहुत करता है

एक दिन ई-मेल देखते समय मैंने देखा कि किसी प्रिया नाम की लड़की का मेल आया है। मैंने वह मेल खोला और पढ़ने लगा। वह मेल किसी प्रिया नाम की लड़की का था और वह मुम्बई में रहती थी। उसने लिखा था- मैंने आपकी कहानी पढ़ी और मुझे बहुत अच्छी लगी, आप बस ऐसे ही […]

पेंटिंग क्लास में स्कूल गर्ल की बुर चुदाई

वह झुक कर पेंटिंग बनाती तो उसकी आधी चूची देख मैं पागल हो जाता, लंड खड़ा हो जाता, उससे नजर मिलती, मैं पैंट के ऊपर से अपने लंड को उसे दिखाते हुए दबा देता था।

मन का मीत मिला रे

तो मैंने उसको सेक्स के बारे में फिर से बताना शुरू किया... आज न तो उसमे कल जितनी शर्म थी और ना ही मदहोशी... वो बड़ी तन्मयता से सुन रही थी, समझ रही थी... फिर उसने मेरे हाथ अपने बोबों पर लगा दिए और खुद मेरे होंटो को चूसने लगी

Scroll To Top