गांड मारने, मरवाने की चुदाई कहानियाँ

गांड मारने, मरवाने या गांड में उंगली घुसाने की चुदाई कहानियाँ

Gaand Marne, marwane ya gaand me ungli ghusane ki sex kahaniyan

Stories related to anal sex

अब मैंने छवि की गांड मारी

प्यारे दोस्तो, चंदा की बेटी छवि की चुदाई तो उसी रात मैंने कर दी जिस रात चंदा को चोदने उसके घर गया था। छवि की चूत चोद कर मुझे काफी संतुष्टि भी मिली लेकिन अभी भी मैं मौके की तलाश में था कि छवि की गांड कैसे मारूँ। हर समय मेरे आगे छवि का नंगा […]

आंटी और उनकी छवि

एक बार मैं फिर हाजिर हूँ अपनी एक नई कहानी लेकर। दरअसल मैं जिस कंपनी के लिए काम करता हूँ वो एक प्रोफेशनल जिगोलो और एस्कोर्ट सुविधा देने वाली कंपनी है। एक बार मेरे ऑफिस से फोन आया कि ग्रेटर कैलाश की एक महिला को चुदाई की सर्विस देनी है जिसके लिए मुझे शाम के […]

रानी के साथ एक रात

मेरे मामा दबंग ठेकेदार थे, उनके घर गया तो मेरे लिए अलग कमरा, अलग नौकरानी थी चोली और लहंगे में लिपटी एक छरहरी काया वाली कंटीली कन्या!

पड़ोसन दीदी की वासना और उनकी चुत चुदाई

वह मेरा चचेरा भाई था। एक रात में वह मेरे बिस्तर में घुस आया और मेरी पेंटी सरका कर मेरी गांड में अपनी नुनी लगाकर पेलने लगा। मुझे अच्छा लग रहा था।

अमरूद के बाग़ में गांड मरवाई

मैंने अपना मम्मा उसके मुँह में दिया, उसने निप्पल चूसा तो मैं चूतड उठा उठा मरवाने लगा- हाय, साले! मेरी माँ चोद दे! बहन चोद दे! मेरी फाड़ डाल! फाड़ डाल! हाँ फाड़! फाड़!

पूरा रंडी बना दिया

जगह बदल बदल कर तीनों ने सारी रात मेरी पति की जमानत का पूरा इस्तेमाल किया। हाय रे जीजा का काला लंड ! उफ्फ ये दरोगा मुआ तो सारी रात मुझे पेलता ही रहा, कभी मुंह में, कभी बुर में तो कभी गांड में !

अमृतसर की कमसिन हसीना सौतेले बाप के साथ बिस्तर में

उसने मेरा गाऊन खिसका दिया। मैंने पलट कर उसको अपने ऊपर गिरा लिया। वो पहले से ही सिर्फ कच्छे में था, आगे से फटने हो आया हुआ था। उसने मुझे नंगी कर दिया

प्रवासी मजदूर से गांड मरवाई -2

मैंने उसके लिए एक मोटा पैग डाला और अब उसकी छाती पर बैठ गया। उसकी तरफ कमर कर 69 का आसन सेट किया और उसके मोटे लंड को मुँह में ले लिया। वो मेरी गांड पर बियर डाल-डाल चाट रहा था।

आन्टी की मालिश

मेरा एक दोस्त की माँ बहुत ही सेक्सी थी, उसका फिगर, गोरा रंग और काले बाल! वो चलती तो क्या वाह... जब उसे मैं देखता था तब मेरा लौड़ा खड़ा हो जाता था. एक दिन आंटी ने ही पहल कर दी.

भूखी शेरनी जैसी भाभी की चुदाई

'भेन की चूत, ले भाभी की चूत... साला अकेला मुठ मारता है? भाभी तो साली चूतिया है जो देखती ही रहेगी... भाभी की भोसड़ी नजर नहीं आई?' भाभी वासना में कांप रही थी।

मन का मीत

विनोद ने माधुरी को अपनी ओर खींचा और माधुरी जान करके उसकी गोदी में बैठ गई। विनोद माधुरी की नरम गाण्ड में अपना कड़क लण्ड दबाता हुआ उसे प्यार करने लगा। उसके कड़क लण्ड का अह्सास पा कर उसने अपनी गाण्ड को उसके लण्ड पर ठीक से सेट कर लिया।

मामी ने गाण्ड मरवाई

On 2006-05-29 Category: चाची की चुदाई Tags: गांड

लेखक : सुमीत कुमार दोस्तो, अन्तर्वासना में यह मेरी पहली कहानी है। मेरा नाम सुमीत है। मैं एक जवान लड़का हूँ। मेरा लंड सात इंच लंबा तथा छ्ह इंच चौड़ा है। मेरा बदन देखने वाली लड़कियों, औरतों का तो मन मुझसे चुदाने का मन करने लगता है। इसी पर मेरी यह कहनी है। यह मेरे […]

बहकता हुस्न

विजय पण्डित अहमदाबाद एक बहुत बड़ा शहर है, साबरमती के कारण उसकी सुन्दरता और बढ़ जाती है। मैं बिजनेस के सिलसिले में यहा आया था। मेरे बिजनेस पार्टनर महेश के यहां मैं रुका हुआ था। उनके घर में मियां बीवी के अलावा तीसरा कोई भी नहीं था। शाम को आठ बजे के बाद वह घर […]

दो नौकरानियों की मस्त चुदाई -2

'अंकल जी, हाय चूत मार दी रे, मेरी फ़ुद्दी चुद गई, आह्ह मेरा माल निकला रे , हरामजादी... मेरी चूत फ़ोड़ डाली रे...' और उसने अपनी चूत सिकोड़ ली। राधा झड़ने लगी, उसका पानी निकलने लग गया था।

एक के साथ दूसरी मुफ्त

मेरा नाम शिरीष शर्मा है! मैं २० साल का गोरा-चिट्टा नौजवान हूँ और इंदौर में रहता हूँ! आज मैं आप सबको मेरी पहली कहानी बताता हूँ… मई का महीना था ! घर पर मैं अपने मोम डैड के साथ रहता हूँ लेकिन उस दिन वो भोपाल गए हुए थे और हमारी काम वाली आ गई! […]

नेहा की चूत खोली-2

प्रथम भाग से आगे : एक दिन वह फिर अपनी माँ के साथ कम्प्यूटर पर काम के बहाने आई। मैं समझ गया कि माल गर्म है। उसने कहा- आज बाकी की मूवी देखनी है। मैंने फिर वही डीवीडी लगा दी। चुदाई का सीन चलने लगा, वह गर्म हो रही थी। अचानक उसने मुझसे पूछा- क्या […]

माँ ने गुस्से में गांड और चूत चुदाई

माँ उठी और मेरे लंड को पकड़ा और साबुन लगाया। दीवार की तरफ मुँह करके खड़ी हुई और कहा- साले, भड़वे, चल तेरा लंड अब मेरी गांड में घुसा।

बस से होटल के कमरे तक

मैं उठा और उसके सारे कपड़े उतार दिए और उसको खड़ा कर ख़ुद घुटनों के बल बैठ कर सीधा ही उसके लंड को मुँह में भर कर चूसने लगा। वो आहें भरकर मुझसे चुसवा रहा था।

देर से ही सही, चुद तो गई

On 2006-03-03 Category: पड़ोसी Tags: गांड

शर्मा जी और हम पास पास ही रहते थे। दोनों के ही सरकारी मकान थे। मेरे पति और शर्मा जी एक ही कार्यालय में कार्य करते थे। शर्मा जी का भाई पास ही में एक किराये के मकान में रहता था और एक प्राईवेट कम्पनी में काम करता था। पति के ऑफ़िस जाते ही शर्माजी […]

समधन की गांड मारी-2

कहानी का पिछला भाग: समधन की गांड मारी-1 आनंदीलाल को गिड़गिड़ाता हुआ देखकर अनुपमा बोली- आपका काम माफ़ करने के लायक नहीं है। ज़रा मैं भी तो देखूँ कि तुम्हारे लंड में कितना दम है। आनंदीलाल यह सुनकर बुरी तरह चौंककर बोले- आप यह क्या कह रही हैं? अनुपमा- जो सुन रहे हो, वही कह […]

Scroll To Top