बाप बेटी की चुदाई में वेबकैम मॉडल बनी बेटी

(Baap Beti Ki Chudai Webcam Model Bani Beti)

अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज़ के पाठकों को नमस्कार।
मैं एक पिता हूं. मैं अपनी लाइव बाप बेटी की चुदाई विडियो सेक्स चैट सेशन का अनुभव आपको बताना चाहता हूं. जो दिल्ली सेक्स चैट वेबसाइट की एक बहुत ही बोल्ड, शरारती और कामुक वेबकैम मॉडल के साथ हुआ था.

इस लाइव वीडियो सेक्स चैट के द्वारा मुझे मेरी कुछ दबी हुई बाप बेटी की चुदाई की कामुक लालसाएं जानने में मदद मिली. जो शायद समाज की नजर में गलत ठहरा दी जायें. क्योंकि ये इच्छाएं मेरी 20 साल की सौतेली बेटी के लिये थीं.

कुछ दिन पहले की ही बात है. जब मैं दोपहर के वक्त अपनी सौतेली बेटी के घर आने का इंतजार कर रहा था. मैंने उस दिन अपने ऑफिस से छुट्टी ले रखी थी और मैं घर में रह कर टीवी देखते हुए टाइम पास कर रहा था.

जब वो कॉलेज से आ गयी तो मैं उसके बाहर आने का इंतजार किया. वह फ्रेश होने के लिए अपने रूम में गयी थी.

हम दोनों के लिए मैंने बाहर से खाना ऑर्डर किया हुआ था. मैं उसका इंतजार कर रहा था. कुछ तो वो पहले ही कॉलेज से लेट आई थी. दूसरा उसको अपने रूम से बाहर आने में कुछ ज्यादा ही समय लग रहा था.

एक तो मैं पहले ही भूख से मर रहा था और दूसरी ओर मेरी बेटी का ये अनमना बर्ताव देख कर मैं कुढ़ता और चिढता जा रहा था. अब और ज्यादा समय बर्बाद मैं नहीं कर सकता था. थोड़े से गुस्से के साथ मैं उठा और अपनी बेटी के रूम की ओर चला.

हमेशा की तरह बिना खटखटाये ही मैंने दरवाजा खोल दिया. जबकि एक सौतेले बाप के लिए बेटी के रूम में जाने से पहले दरवाजा खटखटाना तो लाजमी होता है. मेरी इस हरकत ने मेरी बेटी के दिल में मेरे लिये बचा खुचा विश्वास भी खत्म कर दिया.

जब मैं उसके रूम में दाखिल हुआ तो वो सामने झुक कर अपनी सफेद पैंटी उतार रही थी. उसकी गांड मेरी ओर थी. उसकी मोटी और गुदाज गांड को घूरते हुए उसने मुझे देख लिया.

उस वक्त मैं अपनी बेटी की चूत की झांटों में छिपी उसकी सांवली फांकों को आंखें फाड़ कर देख रहा था.

मैं उसके रूम से वापस निकलना चाहता था.
लेकिन उसकी चूत का वो नजारा मुझे 10-15 सेकेण्ड तक वहीं बांधे रहा. फिर मैं उसके रूम का दरवाजा बंद करके वापस आ गया.

ये घटना होने का बाद उस दिन मेरी बेटी अपने रूम से बाहर ही नहीं आई जब तक कि शाम को मेरी पत्नी ऑफिस से घर नहीं आ गयी.
इस बात को लेकर काफी बहसबाजी हुई.
अगले दिन मेरी पत्नी मेरी बेटी को लेकर उसके मायके चली गयी ताकि वह इस घटना को भुला सके.

जबकि मैं इस घटना के होने के बाद उसी नजारे को अपने ख्यालों में इमेजिन करते हुए बाप बेटी की चुदाई को इंजॉय कर रहा था.

उस दृश्य को सोच कर अब तक मैं कई बार मुठ मार चुका था. मेरी भावनाएं अब और ज्यादा प्रबल हो रही थीं. अब अधिक आनंद लेने के लिए मैंने सौतेली बेटी की सेक्स स्टोरीज पढ़ना भी शुरू कर दिया. ये सेक्स कहानियां पढ़ कर भी मेरी उत्तेजना शांत नहीं हो पा रही थी.

इसलिए अब मैंने कुछ और उत्तेजक कहानी खोजना शुरू कर दिया.

खोजते खोजते मुझे एक विज्ञापन दिखाई दिया जिसमें लिखा था- दिल्ली सेक्स चैट मॉडल्स के साथ लाइव सेक्स चैट का मजा लें।

मैंने जब उस विज्ञापन के लिंक पर क्लिक किया तो मैं दिल्ली सेक्स चैट की वेबसाइट पर पहुंच गया.
वहां पर मुझे एक से बढ़कर एक सुंदर और दिलकश वेबकैम मॉडल्स की फोटो दिखाई दीं.

ऐसे ही स्क्रॉल करते हुए मुझे एक सेक्सी वेबकैम मॉडल अस्मि की प्रोफाइल दिखी. अस्मि ने अपनी प्रोफाइल में लिखा हुआ था कि वह 21 साल की एक बहुत ही चुदक्कड़ लड़की है. वो मुम्बई में रहती है. उसकी चूचियां बिल्कुल गोल गोल हैं और उसकी गांड बहुत ही मोटी और गुदाज है.

उसने लिखा था कि वो सेक्स कहानी सुनाने में एक्सपर्ट है. लम्बी लम्बी कॉल्स के दौरान उसको हार्ड सेक्स करना बहुत पसंद है. किसी मर्द के हाथ में लंड की मुठ लगते हुए देख कर उसको बहुत मजा आता है. वो बात करने वाले को एकदम से रियल वाली फीलिंग देने की काबिलियत रखती है.

हां, मगर उसको वैसे लंड पसंद नहीं थे जो कि खराब पटाखे की तरह फटने से पहले ही फुस्स हो जायें. उसे सेक्स चैट के दौरान लम्बी चुदाई का मजा देने वाले लौड़े ज्यादा पसंद आते थे.

उसकी कामुक और उतावला कर देने वाली बातें जानकर और उसकी सेक्सी फोटो देख कर मेरी वासना भड़क गयी. मैं उससे लाइव सेक्स चैट करने के लिए मचल गया. वो मेरे साथ मेरी सौतेली बेटी का रोल प्ले करने के लिए एक परफेक्ट मॉडल थी.

बिना देर किये मैंने अपने क्रेडिट कार्ड की डीटेल्स वहां पर डाल दीं ताकि जल्दी से जल्दी दिल्ली सेक्स चैट मॉडल अस्मि के साथ लाइव वीडियो सेक्स चैट सेशन शुरू हो सके.

कुछ ही क्षण के बाद सेशन शुरू हो गया. एक वी-नेक की टीशर्ट और शार्ट पैंट पहने हुए अस्मि अपनी दोनों टांगों क्रॉस करके सोफे पर बैठी हुई थी. उसकी चूचियों का आकार और शेप उसकी टीशर्ट में से साफ पता लगा रहा था.

चेहरे पर हल्के मेकअप के साथ एक सादगी भरी मुस्कान लिये वह एक कामुक और आमंत्रित करने वाले पोज में बैठी हुई थी.

अस्मि- हैलो हैंडसम! क्या तुम यहां पर बाप बेटी की चुदाई का मजा लेने आये हो?

मैं- सौतेली बेटी! मैं अपनी सौतेली बेटी की चुदाई के लिए यहां पर आया हूं. मैं उससे कल हुई घटना के बारे में बात करना चाहता हूं. मैं बिना दरवाजा खटखटाये उसके रूम में चला गया और उसको नंगी देख लिया. उस वक्त वो अपने कपड़े बदल रही थी. शायद इस मामले में तुम मेरी मदद नहीं कर पाओगी, क्या तुम कर सकती हो?

अस्मि- हां जरूर कर सकती हूं. मैं बस दो मिनट में आती हूं. तब तक तुम अपनी सौतेली बेटी से बात करने के लिए तैयार हो जाओ.

दरअसल मैं और अस्मि बाप बेटी की चुदाई का किरदार खेलने वाले थे.

मैं भी एक्साइटेड हो रहा था कि मुझे वो सब करने का मौका मिलेगा जो मैं अपनी सौतेली बेटी के साथ करना चाह रहा था.

अस्मि चली गयी और थोड़ी देर के बाद अपने हेयर स्टाइल को एक चोटी में बदल कर आ गयी जिससे वो एक हॉट सेक्सी कॉलेज गर्ल लग रही थी. उसने एक घुटनों तक की एक स्कर्ट पहनी हुई थी जो कि उसके सफेद छोटे टॉप के साथ मैच कर रही थी.

उसकी गोलाकार घंटी के आकार की चूचियां उसके टॉप के अंदर कसी हुई थी और उसकी क्लीवेज लाइन को दर्शा रही थी. उसके निप्पल भी उस टॉप में अलग से बाहर निकले हुए दिख रहे थे. शायद उसने अंदर से ब्रा नहीं पहनी थी. अपनी फोन स्क्रीन में कुछ पढ़ते हुए वह सोफे पर बैठ गयी.

मैं- क्या मैं रूम में अंदर आ सकता हूं डिअर?

अस्मि- ओह्ह हां … आने से पहले जरा पूछ कर आयें डैडी. मुझे तो यकीन नहीं हो रहा है कि आप मुझे पीछे से नंगी देख चुके हो. मुझे पता है कि आपको मुझे ऐसे देख कर मजा आ रहा था. मैं देख रही थी कि आप अपने लंड को मसल रहे थे. क्या आपने मेरी टाइट चूत और गांड को देख कर मुठ भी मारी थी?

मैं- नहीं, मैंने ऐसा कुछ नहीं किया डिअर. मुझे तुम्हें नंगी देख कर उत्तेजना नहीं होगी चाहे सिचुएशन कैसी भी हो।
अस्मि- सच में डैडी? इसका मतलब अगर मैं इस तरह से आपके सामने डांस करके आपको उकसाऊं तो आपका लंड नहीं खड़ा होगा?

वो सोफे से उठी और वेबकैम के नजदीक आ गयी. वो दूसरी तरफ घूम गयी और स्कर्ट को अपने हाथ में ऊपर थाम लिया. उसने अपनी गांड को कैमरे के सामने कर लिया और उसको ऊपर नीचे करते हुए हिलाने लगी. उसका ये कामुक अंदाज देख कर मैंने भी अपने तने हुए लंड को हाथ में ले लिया और मुठ मारने लगा.

फिर वो पीछे मुड़कर देखते हुए बोली- देखो डैडी, आपका तन गया है. मैं तो ये सोचकर हैरान हो रही हूं कि यदि मैंने अपनी स्कर्ट को बिल्कुल उठा दिया तो फिर क्या होगा. चलिये देखते हैं कि आपको उत्तेजना आती है कि नहीं?

अस्मि ने अपनी स्कर्ट को पेट तक चढ़ा लिया और उसकी मोटी गांड जिस पर नेवी ब्लू रंग की पैंटी कसी हुई थी, वो अपनी गांड को नागिन की तरह लहराने लगी. उसकी मोटी गांड की दरार में उसकी पैंटी धागे के समान होकर फंस गयी थी.

उसकी गोल गोल गुदाज गांड को देख कर मुझे मेरी बेटी की गांड का वो नजारा याद आ गया जो मैंने कल देखा था. ये सोच कर ही मैं अपने लंड की तेज तेज मुठ मारने लगा.

मैं- मुझे लगता है कि तुम्हें नंगी देख कर लंड खड़ा न होने का मेरा अनुमान गलत था. तुम्हारी टाइट और मस्त सी चूत का नजारा तुम्हारी मां की ढीली चूत देखने से कहीं ज्यादा कामुक है. अब जरा अपनी गांड को खोल कर दिखा दो मेरी बच्ची।

अस्मि ने पैंटी नीचे खींच दी और अपनी गांड को दोनों हाथों से खोल कर फैला दिया. उसको ऊपर नीचे हिलाते हुए उसने अपनी गांड के छेद के दर्शन करवा दिये.
अस्मि- हम्म … मेरे पापा तो मेरी चूत को पसंद करते हैं! इससे तो साफ हो जाता है कि आप को मुझे नंगी देख कर मजा आता है. है न?
उसने शरारत भरी मुस्कान के साथ कहा.

फिर वो अपनी चूत पर अपनी उंगली फेरने लगी. उसने अपनी चूत की फांकों को फैला दिया और अपनी क्लिटोरिस में उंगली से सहलाने लगी. कुछ ही देर में उसकी चूत गीली होना शुरू हो गयी. वो अब कामुक सिसकारियां लेने लगी और मुझे भी अपनी कामुक बातों से उकसाने लगी.

अस्मि- तो क्या आप मुझे चोदना चाहोगे डैडी? यदि नहीं तो फिर आपके लंड को मेरी चूत देख कर इस तरह खड़ा नहीं होना चाहिए था. लाओ, मैं ही आपके लंड की मुठ मार देती हूं. बाहर निकाल लो इसको डैडी.

अब वो वेबकैम की तरफ मुंह करके घूम गयी. उसने सोफे के सामने रखी टेबल पर एक गुलाबी रंग का डॉटेड डिल्डो रख लिया. उस डिल्डो के नीचे दो आण्ड भी बनाये गये थे जो उसको सपोर्ट कर रहे थे. डिल्डो को सीधा रख कर उसने उसको मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

वो उस डिल्डो के सुपारे को चूसते हुए लगातार उस पर मुंह ऊपर नीचे चला रही थी. उसको अपने मुंह में गहराई तक उतार रही थी.
मैं- आह्ह … चूसो मेरी जान … तुम तो अपनी मां से भी ज्यादा बेहतर तरीके से लंड चूसती हो। ओह्ह यस … थोड़ा करीब आओ डिअर ताकि मैं तुम्हारी चूत को लंड डालने के लिए तैयार कर सकूं.

वो टेबल के और नजदीक आ गयी और अपनी टांगों को चौड़ी करके अपनी चूत में उंगली करने लगी. इस दौरान वो आनंद में आहें भरती रही और मुझे लगातार डैडी कह कर बुलाती रही.

इस उत्तेजना भरे माहौल में मेरे लंड से कामरस निकलना शुरू हो गया. मैं आहिस्ता से अपने लंड की मुठ मारता रहा ताकि स्खलन भी न हो और मुझे इन कामुक पलों का पूरा आनंद मिले.

वो बोली- अब मुझे तुम्हारे लंड की सवारी करने दो डैडी. एक सांड की तरह मेरे ऊपर चढ़ कर मुझे चोद दो डैडी.

इतना कह कर वो मेरी और चूत करके घूम गयी. हौले से उसने डिल्डो का सुपारा अपनी चूत में दे लिया. डिल्डो के सुपारे से वह अपनी चूत के दाने को लगातार रगड़ती रही. उत्तेजना में उसकी चीखें निकलने लगीं. उसके बाद उसने उस डॉटेड डिल्डो को अपनी चूत की गहराई में उतार लिया.

रिदम के साथ तीन-चार बार ऊपर नीचे होने के बाद उसने उस डिल्डो पर कूदना शुरू कर दिया.
मैं- ओह्ह बेबी आह्ह … ऐसे ही करो. अपनी टाइट चूत को अपने बाप के लंड पर ऐसे ही उछालो. तुम अपनी मां से भी अच्छा कर रही हो.
मुझे बाप बेटी की चुदाई का पूरा आनन्द आ रहा था.

अस्मि- हम्म … अपनी उंगली को मेरी गांड के छेद में घुसा दो डैडी. इससे मैं और ज्यादा तेजी से तुम्हारे लंड पर कूद कूद कर उसको अपनी चूत में लूंगी. आह्ह … मेरी गांड में उंगली करो डैडी।

इस तरह उसने अपनी बीच वाली उंगली को अपनी गांड में दे लिया. वो अपने चूतड़ों को गोल गोल हिलाते हुए अपनी चूत में डिल्डो लेती रही.
कुछ देर ऐसा करने के बाद वो उकड़ू बैठ गयी और डिल्डो पर कूदते हुए अपनी चूत को चोदने लगी. उसकी गांड का छेद काफी खुला हुआ था. उंगली को गांड में डालते हुए उसका छेद एकदम से खुल-बंद हो रहा था.

मैं- मेरी तरफ घूमो मेरी जान … मुझे तुम्हारे उछलते हुए चूचे देखने दो.
वो मेरी ओर घूम गयी और उसने अपने टॉप को निकाल दिया.

अपनी गोल गोल चूचियों को उसने अपने दोनों हाथों में भर लिया और उनको एक दूसरे पर रगड़ने लगी. मेरी तरफ उसने उकसाने वाली नजर से देखा और एक एक करके अपने निप्पल्स को चूसने लगी.

मेरी सौतेली बेटी के बूब्स हमेशा ही मुझे बहुत ज्यादा उत्तेजित करते थे. अस्मि की चूची मुझे मेरी बेटी की चूचियों जैसा नजारा दे रही थी. अस्मि के नंगे बूब्स का पूरा नजारा देख कर मैं अपने लंड को और तेजी से रगड़ने लगा. अभी तक मैं ऐसा करने से बच रहा था लेकिन अस्मि की चूचियों को देख कर मैं मजबूर हो गया.

उसके बाद उसने अपनी चूत के होंठों को खोल लिया और डिल्डो को अपनी चूत में डाल लिया. कुछ ही धक्कों के बाद उसकी चिकनी चूत में वो डिल्डो मलाई की तरह अंदर बाहर होने लगा.

हर धक्के के साथ वो डिल्डो पर और जोर से उछल रही थी. ऐसा करने से उसकी चूचियां भी जोर जोर से उछल रही थीं. अब आखिरी के कुछ मिनटों में मुझसे भी अपनी उत्तेजना को लंड के अंदर रोके रखना बहुत मुश्किल हो रहा था.

मैं- मुझे अपनी गांड के छेद का स्वाद लेने दो डिअर। मेरे लंड को भी अपनी गांड में लेकर ऐसे ही ऊपर नीचे करो।
मेरे कहने पर उसने डिल्डो को चूत से निकाल लिया और अपनी उंगली का सहारा लेते हुए उसे अपनी गांड में लेने लगी.

शुरू में उसको अपनी गांड में डिल्डो गहराई तक लेने में थोड़ी परेशानी हुई. कुछ देर के बाद आराम से ऊपर नीचे होने लगी और डिल्डो उसकी गांड में आसानी से जाने लगा.

अस्मि- मेरी चूत में उंगली करते रहो डैडी. अब मेरी चूत से किसी भी पल फव्वारा छूटने को है.
उसने अपनी गीली चूत को पूरी तरह से खोल लिया जिससे उसकी गुलाबी दीवारें अंदर से दिखने लगीं. कुछ ही पल के बाद जब वो अपनी गांड में डिल्डो को पूरी गहराई से ले रही थी तो एकदम से उसकी चूत से पानी की बौछार सी निकल पड़ी.

इसके साथ ही उसके मुंह से जोर की सीत्कार निकली- आहहहा … आहआह आआआ … ओ … ओहह … आह्ह … करते हुए वो परम आनंद में चीख पड़ी.

इस दृश्य को देखकर मैं भी खुद को रोक न पाया और मैंने अपनी सौतेली बेटी की उस पैंटी पर अपना माल निकाल दिया जिसे मैं पूरे लाइव सेक्स चैट सेशन में अपने पास रखे हुए था.

स्खलित होने के बाद हम दोनों शांत होकर मुस्करा रहे थे. सेशन खत्म होने से पहले अस्मि और मैंने एक दूसरे की तारीफ की. लाइव सेक्स चैट सेशन के दौरान उसकी तत्परता को देखते हुए मैंने अस्मि को टिप भी दिया.

अस्मि के साथ मेरा एक्सपीरियंस बहुत ही मजेदार रहा.

उस घटना के बाद यद्यपि मेरी बेटी घर नहीं लौटी. फिर भी अस्मि के रहते मुझे उसकी कमी महसूस नहीं हुई.

चूंकि अब मेरे पास दिल्ली सेक्स चैट का अकाउंट है. इसलिए अब मैं किसी भी समय अपनी सौतेली बेटी के साथ जैसे चाहूं वैसे बाप बेटी की चुदाई की अपनी कल्पना में मजे ले सकता हूं.

पाठकों से मेरा अनुरोध है कि आप भी एक बार डी.एस.सी. साइट पर जरूर विजिट करें और अस्मि जैसी हॉट इंडियन कैम मॉडल के साथ एक बार मजा जरूर लें.

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top