यारों का महायाराना- मन की बातें

(Yaaron Ka Mahayaarana- Mann Ki Baatein)

दोस्तो, मैं आपका प्यारा राजवीर याराना के साथ एक बार फिर से आप सबके बीच में हाजिर हूं. यह कहानी
याराना
भाई-बहन नंदोई-सलहज का याराना
याराना का तीसरा दौर
याराना का चौथा दौर
यारों का महायाराना- आगाज़

के आगे का भाग है। जिन्होंने याराना को शुरू से नहीं पढ़ा है, वह पहले इस शृंखला के पिछले भाग पढ़कर आयें ताकि आपको कहानी के सभी पात्रों का एक दूसरे सम्बंध पता चल पाये.

तो दोस्तो, जैसा कि आपको पता है, यारों का महा याराना में हम अदला-बदली के 5 जोड़े एक ही जगह पर इकट्ठा हुए थे. हमारी बीवियों के लिए यह सब एक सरप्राइज़ था।

यारों का महायाराना की एक आधी रात की कहानी ही काफी लंबी थी तो समझ जाइये कि जब तक ये कहानी अंजाम तक पहुंचेगी तब तक कितनी लम्बी हो जाएगी।

कहानी तो कहानी की तरह सुनाई जाती है। उसमें काफी सारी बातों को बताया जाता है और काफी बातें सुनाने से रह भी जाती हैं। अतः जब मैं महायाराना की घटना को लिख रहा था तो ध्यान दिया कि कहानी सुनाने में कुछ महत्वपूर्ण संवाद पाठकों को बताने से रह जाएंगे जो कि काफी महत्वपूर्ण और उत्तेजक थे।

याराना के यारों के बीच क्या बातें हुईं और किस तरह उनकी दोस्ती हुई, अगर ये नहीं बताया तो आगे की कहानी में कुछ अधूरापन सा लगेगा।
अतः महा याराना का ये भाग एक नए अंदाज में महिला पात्रों के संवाद के रूप में आपके सामने लाया हूं। आइये वहीं से शुरू करते हैं जहाँ से पिछली कहानी खत्म हुई थी।

राजवीर- तो आगे का प्लान यह है कि हमारी हसीन बीवियां अपने पति के अलावा किसी और का लन्ड लेकर सोई हैं। लेकिन जब उनकी नींद खुले तब उनकी चूत में किसी अन्य तीसरे आदमी का लन्ड होना चाहिए।
सबको कमरे में जाकर अपने कमरे की लाइट बन्द कर देनी हैं और बिल्कुल अंधेरे में अपने पार्टनर के साथ फोरप्ले करना है। जब उनकी चूत लन्ड लेने को तयार हो जाए, तब उनकी चूत में लन्ड घुसा देना है।
जब वह सोच रही होगी कि मेरा रात वाला साथी ही मुझे चोद रहा है तब लाइट जलाकर कर उन्हें सरप्राइज करना है कि ये लन्ड किसी और का है।
कैसा है आईडिया दोस्तो?

सबने कहा- यार, वैसे सुन कर ही लंड खड़ा हो गया है। करेंगे तब कितना मजा आएगा!
राजवीर- तो आओ तय कर लें कि कौन अब किसके कमरे में जाकर किसकी चूत उधेडे़गा!

राजवीर- नील, रात में तुम सीमा के साथ थे. अतः तुम्हें चुदाई के लिए नई चूत नहीं मिली। इसलिये तुम अब अपने मन की मनोकामना पूरी कर सकते हो। यानि कि अपने सपनों की मल्लिका रीना को भोग सकते हो।
नील- क्या बात है! राजवीर सच में??
राज- हां।

राजवीर- श्लोक तुमने रात में विक्रम की वीना को बजाया है. अब तुम्हें रकुल के पास जाना होगा। रकुल की मैंने रात में अच्छी चुदाई की, फिर भी वो मेरे पैसे वसूल करवाने के लिए बेताब थी। वो तुम्हें झेल लेगी।
श्लोक- ओके जीजू।

राजवीर- रणवीर, मेरे प्यारे दोस्त। तुम्हारी बीवी प्रिया उर्फ इलियाना की विक्रम ने चुदाई की है। अब मौका है कि जाकर उसका बदला लिया जाए। तुम विक्रम की बीबी वीना की चूत मार लो। पड़ोसी होने के नाते तुम्हारी खूब जमेगी।

राजवीर (विक्रम से)- विक्रम! जैसा कि श्लोक की कृति सेनन जैसी बीवी सीमा को ठोकना तुम्हारा सपना है तो जाओ ले लो अपनी बाजी। मैं अपने सबसे पहले वाले याराना की यादें ताज़ा करूँगा इलियाना यानी रणवीर की बीवी प्रिया के पास जाकर।

मेरे याराना के यारों, जाओ और पूरा करो इस महा याराना के दूसरे चरण को। और हां, सुबह आप अपने साथियों को बता सकते हैं कि हम यहाँ पांच कपल इकट्ठे हुए हैं अदला-बदली का मजा लेने के लिए।

श्लोक- और हां, सुबह 9 बजे ब्रेकफास्ट के लिए इकट्ठा होना है, चाहे कितना भी थक जाओ।
सब उत्साहित होकर बदले हुए कमरों में चले गये।

तो दोस्तो, ऐसा तय करके हमने अपने कमरे बदल लिए। कमरो में पूरा अंधेरा करके अपनी बदली हई बीवियों से अंधेरे में फोरप्ले करके उन्हें नींद से जगाया. चुदाई के लिए उनकी चूत को तैयार किया.

अपना अपना लन्ड उनकी चूत में अंदर घुसाकर बेड की पास वाली लाइट जलाकर उन्हें सरप्राइज कर दिया। इस पर किसका क्या रिएक्शन था, ये आप आगे किए गए उनके वार्तालाप से समझने की कोशिश करियेगा.

पहले से तय किए गए कार्यक्रम के अनुसार हम सबको सुबह 9 बजे ब्रेकफास्ट के लिए होटल के रेस्तरां में इकट्ठा होना था। वैसे तो हम दस के दस लोग एक साथ मिलकर बैठ सकते थे लेकिन मैंने निश्चित किया कि हम पांच पुरुष अलग बैठेंगे और पांचो महिलाएं अलग बैठेंगी।

मर्द तो वैसे भी एक दूसरे से मिलकर खुल चुके थे। आगे के लंबे कार्यक्रम को सरलता और मजे से चलाने के लिए महिलाओं का भी याराना होना जरूरी था क्योंकि चंद महिलाओं की यह पहली मुलाकात थी।

मुझे पता था कि रीना, प्रिया, सीमा, रकुल, वीना का पहली बार साथ मिलना और उनके बीच का वार्तालाप मजेदार हो सकता है. अतः मैंने रीना के पर्स में अपना छोटा मोबाइल रिकॉर्डिंग शुरू करके रख दिया।

रेस्तरां में हम दस लोग एक साथ इकट्ठे हुए। सभी मर्दों व महिलाओं की वासना वाली नज़र एक दूसरे से मिली लेकिन बात करने का मौका न देते हुए श्लोक ने कहा- सभी हॉट और सेक्सी महिलाओं की टेबल ऊपर वाली मंजिल पर है। आप लोग थोड़ा खुल लीजिए। दोस्त बन जाइये।

सब बीवियां ऊपर चली गयीं और अपना अपना नाश्ता लेकर एक टेबल पर बैठ गयीं। इधर हम पांचों मर्दों ने अपना अपना नाश्ता लिया और साथ बैठ कर रात की बातें करने लगे.

महिलाओं के बीच हुआ वार्तालाप (जैसा कि मैंने बाद में फोन रिकॉर्डिंग से सुना)-

पांचों अपनी अपनी प्लेट लेकर बैठीं। एक दूसरे की तरफ देख कर मुस्कराई, मगर पांचों को यह पता नहीं था कि उनका पति रात में किस के साथ था और सुबह किसके साथ। इस बात की थोड़ी झिझक भी थी और शर्म भी।

रीना ने खामोशियाँ भंग करते हुए कहा- हैलो प्रिया, आपको देख कर मैं सचमुच चकित हूं।
प्रिया- मेरे लिए भी उतना ही सरप्राइजिंग है। पता नहीं था कि हम फिर ऐसे मिलेंगे।
हैलो वीना। वैसे हम पड़ोसी हैं मगर हमारी भी पहले बात नहीं हुई।

वीना- हां प्रिया। राजवीर भैया के जाने के बाद मेरे पति विक्रम और आपके रणवीर में दोस्ती हो गयी थी, लेकिन हमारी दोस्ती नहीं हुई।

सीमा- हैलो यार, हम भी बैठे हैं यहां!
रीना- अच्छा, हमें तो दिखे ही नहीं। हा हा हा! अरे वाह … रकुल तुम भी हो? गुड! चलो जो पहले नहीं मिली हैं उनका परिचय कर देती हैं।

“ये है प्रिया … हमारी अदला-बदली की पहली साथी। हमारी पहली अदला बदली की कहानी बड़ी मजेदार थी। है न प्रिया? इनके पति का नाम है रणवीर।”
“और ये है सीमा। सीमा और मैं ननद भाभी हैं। सीमा का पति मेरा भाई श्लोक है। ”
सीमा- जी … और ये रकुल है। हमारी अहमदाबाद की नई साथी। इनके पति का नाम नील है और इनके पति का लन्ड बहुत ही ज्यादा लम्बा है. हा हा हा.
सब हंसने लगीं.

रीना- रकुल यह है वीना। हम देवरानी-जेठानी हैं। ये राजवीर के भाई विक्रम की बीवी है।
सीमा- और हम सब यहाँ बड़ी चालाकी से अपने पतियों द्वारा अदला बदली कर चुदाई के लिए इकट्ठा की गई हैं।
वीना- यार, ये सच में बड़ा सरप्राइज़ करने वाला था।

रकुल- मेरे साथ तो राजवीर ने ऐसा खेल खेला कि मुझे बताने में भी शर्म आ जाये।
प्रिया- अब जब हम पतियों को बदल बदल कर चुद रही हैं तो अब कैसी शर्म?

रीना- अच्छा-अच्छा, ये तो बताओ कि रात का अनुभव किसका कैसा रहा? कौन किसके साथ था?

वीना- यार मैं क्या बताऊँ! सीमा तुम कैसे झेलती हो श्लोक को? कितना बड़ा चोदू है वो। मेरी चूत को सुजा दिया उसने। इतनी हेवी डाइट लेने की आदत नहीं है मेरी। जंगलियों की तरह टूट पड़ा मुझ पर। जब वह मुझे जोर से पेल रहा था तब मैं मन में सोच रही थी कि बहनचोद … तेरी बहन का बदला आज ही लेगा क्या?
सब हंसने लगीं.
साला रात की सूजन उतरी नहीं थी कि जब होश आया तो पाया कि रणवीर ने अपना मूसल चूत में ठोक रखा है।

हा हा … हा हा … हा हा … की आवाज़ आने लगी.

सीमा- क्या करें … वीना है ही बजाने की चीज़। अच्छा हुआ। क्या बताऊँ, मेरे लिए तो रोज की बात है।

रकुल- मैं भी तुम्हारा दर्द समझ सकती हूं वीना। जो हेवी डाइट तुम्हें रात में मिली उसी का नाश्ता मैंने सुबह किया है. यानि श्लोक की चुदाई का डोज मुझे मिला है। मादरचोद ने चोद चोद कर मेरी चूत का सारा रस खत्म कर दिया. मगर उसके लंड की प्यास फिर भी नहीं बुझी.
रात में राजवीर की चुदाई और सुबह श्लोक नाम का सांड। मेरी चूत ने जवाब दे दिया। फिर भी एक अच्छे पार्टनर की तरह मैंने अपने मुंह को चुदवाकर उस ज्वालामुखी के लावा को बाहर निकाला। वैसे भी अहमदबाद में श्लोक-सीमा और नील और मैं साथ रहते हैं तो मुझे इसकी थोड़ी आदत है. लेकिन जो भी अब तक श्लोक का शिकार नहीं हुई है … वह ज़रा बच कर रहना।

प्रिया- यानि मुझे श्लोक से बचना है? ओह गॉड … सुनकर ही रोंगटें खड़े हो गये। ऐसा क्या करता है श्लोक?
रीना- मुझे नहीं लगता प्रिया कि तुम श्लोक से यहां बच पाओगी। आने वाले 7 दिनों में पता नहीं किसको किसके लन्ड का सामना कितनी बार करना होगा!

सीमा- वैसे रात में तुम्हारे साथ क्या हुआ जो तुम कह रही थी कि जो रात में हुआ वह तो मैं तुम्हें बता भी नहीं सकती?

रकुल- शायद तुम सब मुझ पर हंसो या मेरे चरित्र के बारे में गलत अनुमान लगाओ, किंतु रात में राजवीर और नील ने मेरे साथ एक अजीब सा खेल खेला।
जैसा कि मैंने कभी राजवीर को देखा नहीं था, शाम को नील ने मुझे फोन लगाकर कहा कि तुम्हारी खातिर एक रात के लिए कोई अपनी खुद की बीवी को मुझसे चुदवाने के लिए तैयार है. साथ ही मनचाही कीमत देने के लिए तैयार है।
नील ने पांच लाख एक रात का कह कर मुझे राज के साथ चुदाई करवाने के लिए राज़ी कर लिया।
मैं रात भर राजवीर से इस तरह चुदी जैसे कि मैं कोई वेश्या हूं और वह मेरा कोई ग्राहक है।
यह सब नाटक था.
वह तो मुझे सुबह पता चला जब मेरे साथ श्लोक था। उसने मुझे बताया कि यहां सब हैं और सबके साथ ऐसा खेल खेला है। तब मैं थोड़ी नॉर्मल हो पाई हूं.

सीमा- कोई बात नहीं रकुल, हम आपके बारे में कुछ नहीं सोच रहे हैं। यहां चरित्र की तो बात ही मत करो कि हम तुम्हारे बारे में क्या सोचेंगे।
यहां हम अपने पति बदलकर चुदाई करवा रही हैं तो किसका चरित्र अच्छा होगा इसके बारे में क्या कह सकते हैं। वैसे भी श्लोक और हम तो इस अदला-बदली की जिंदगी से पहले रोलप्ले वाला सेक्स करते थे, जहां पर कई बार मैं उनकी वेश्या बन चुकी हूं।

रकुल- थैंक्स … मुझे नॉर्मल फील कराने के लिए। बाकी राजवीर चुदाई करने के लिहाज से एक बहुत ही अच्छा पार्टनर है. उसके साथ सचमुच में बहुत मजा आया.
रीना- हा हा हा! मेरे ख्याल से यहाँ हम पांचों राजवीर का लन्ड ले चुकी हैं।

वीना- हां रीना भाभी, वो बेस्ट है।
प्रिया- सचमुच।
रीना- प्रिया, रात में तुम किसके साथ थी?

प्रिया- वेल … रात में विक्रम मेरे साथ था। पता नहीं क्यों सब मुझे इलियाना इलियाना बोल बोल कर मेरी गांड मारने पर तुले रहते हैं। वो बोला कि दोस्त की बीवी को चोदने का मजा ही कुछ और है. तुम तो मेरे भाई राजवीर की भी माशूका रही हो.
मुझे अच्छा लगा विक्रम के साथ रात गुजार कर। सुबह खुद राजवीर मेरे साथ था. ऐसा लगा जैसे मैं अपने किसी प्रेमी से काफी दिनों के बाद मिली हूं. शायद मेरे दिल के एक कोने में उसके लिए प्यार है. काफी रोमांटिक चुदाई थी. गांड तो उसने भी मेरी मारी, मगर राजवीर के लिए सब कुर्बान।

सीमा- तो इस तरह प्रिया एक ही रात में दो भाइयों से चुदने वाली औरत बन गयी।
इस बात पर सबके ठहाके फिर से गूंज उठे.

रकुल- तुम्हारा रात का क्या किस्सा है सीमा?
सीमा- रात में मैंने पुराना लन्ड लिया और सुबह नए लन्ड का अहसास मिला.
प्रिया- मतलब?

सीमा- रात में मेरे साथ नील था। अब नील का तो तुम्हें क्या बताऊँ! नील का लन्ड काफी लंबा है। औरत की चूत की गहराई के हिसाब से कुछ ज्यादा ही लम्बा है। शायद 9 या 10 इंच! है ना रकुल?
मगर अहमदाबाद में अक्सर हम बदल बदल कर चुदाई कर ही रहे हैं तो इतना कुछ नया नहीं हुआ। एक बात मैं जरूर कहूंगी कि नील का लंड वहां तक की खुजली मिटा देता है जहां तक बाकियों का लंड तो पहुंच ही नहीं पाता. हा हा हा हा।
सुबह विक्रम था मेरे साथ। वो बोला कि ऐ कृति सेनन को मात देने वाली उसकी कार्बन कॉपी। मुझे अपनी लम्बी टाँगों का कमाल दिखाकर धन्य कर दो।
काफी देर तक वो मेरी टांगों को ही चाटता रहा।
फिर मैंने कहा- टाँगों के बीच की गुफा को भी शांत करो न विक्रम!
तब उसके मोटे लन्ड ने उसका कमाल बताया। विक्रम इज़ अ गुड फकिंग राइडर (विक्रम बहुत ही चोदू किस्म का चूत सवार है.)

फिर से सबके हंसने की आवाज़ गूँजी.

सीमा- सबकी चुदाई की कहानी पूछती रहोगी या अपना भी कुछ बताओगी रीना?
रीना- अरे मैं क्या बताऊँ!
प्रिया- अच्छा? हमने सबने खुलकर इस नए याराना के लिए सब बातें बताई हैं तो तुम तो मुख्य नायिका हो। राजवीर ने हम सबकी ली है तो क्या? तुमने भी तो हम सबके पतियों का लंड लिया है।

रकुल- हां। पहले अपनी रात की कहानी बताओ और फिर ये बताना कि किसमें क्या खास है? ताकि हम आने वाले 7 दिनों के लिए तैयार हो जाएं।
रींना- ओके! रात में मेरे पास रणवीर आया। रणवीर वो पहला मर्द रह चुका है जिसने पति के अलावा मेरी चूत की दीवार को भेदा था. उसके साथ पहली स्वैपिंग का अहसास बहुत ही अलग था.
अदला बदली का पहला साथी वैसे भी बहुत खास होता है. प्रिया ने सच ही कहा था. हमारा मिलन ऐसा था जैसे पहले प्यार वाले प्रेमी हों। रणवीर को अपने नंगे अंग दिखाने में एक अलग ही रोमांच आता है। उसके लिंग का मुंड जब मेरी चूत की गहराई में समाता है तो उत्तेजना में रोमांच और भावात्मकता का अलग ही समावेश पैदा होता है।
रणवीर ने मुझे जमकर चोदा। उसने मेरे शरीर को दांतों से काट काटकर काटकर और नाखूनों से नोंच कर इतना लाल कर दिया कि मानो इतने दिन का प्यार मुझे ऐसे ही पकड़ जकड़ कर निकाल देगा. मजा आ गया उसके साथ.
फिर सुबह हुई। रणवीर मेरे शरीर को ऐसे सहला और चूम रहा था जैसे उसको पहली बार इसका आनंद मिल रहा हो. फिर जब मैंने अपनी टाँगों को चौड़ी कर उसके लिंग के लिए जगह बनाई तो लगा कि ये क्या?
कल जहां तक रणवीर नहीं पहुंच पाया, वहां तक भी इसने कैसे पहुंच बना ली? उसका लिंग मेरी बच्चेदानी के अंदर तक पहुंचने लगा. मैं समझ गयी कि ये रणवीर नहीं है. जब लाइट जली तो पता चला ये नील था. उसके लंड की चोट इतनी गहराई तक थी कि मैं विरोध करने या किसी प्रकार का रिएक्शन देने की हालत में नहीं रह गयी थी.
वास्तव में इतने लंबे लिंग का मजा कुछ और ही है।
फिर लाइट जलने पर नील मेरे चमकते हुए बदन की चमक में बह गया। वो अपने आप पर काबू न रख पाया। उसके धक्कों से मेरे गोल गुलाबी स्तन जोर से हिल रहे थे जिन पर उसकी नजर अटक कर रह गयी थी.
जब वो छूट रहा था तब मैंने उसको पीठ के बल लेटाया और खुद उसके ऊपर बैठ कर अपनी चूत के धक्कों से उसके लंड को ही चोदने लगी. एक आशिक को तड़पाने का मौका मैं भला कैसे छोड़ सकती थी.
उसके छूट जाने के बाद भी मैं उसके लन्ड को अंदर चूत में लिए चोदती रही। उसकी सांसें ऊपर आ गयीं।
मैं तब भी न रुकी तो वो बोला कि रीना… बस करो, मुझे अटैक आ जाएगा। तब मैंने उस पर तरस खाया। मगर उसके लंबे लिंग की सवारी करके मजा आ गया.

प्रिया- बच्चे की जान ले ली तुमने रीना!
सीमा- लम्बे लन्ड वाला बच्चा कहो।
रीना- तुम्हें बुरा तो नहीं लगा न रकुल?

रकुल- नहीं नहीं। जैसे तुमने नील को तड़पाया है वैसे ही मैं राजवीर के साथ कर लूंगी। हा हा हा।
सीमा- निष्कर्ष यह है कि रात बड़ी मजेदार थी और आने वाले दिन भी मजेदार होंगे। मुझे रणवीर के साथ पहली चुदाई का मजा लेना है.

रीना- सही है। क्या पता हमारे पति हमें एक साथ पांच पांच लोगों से चुदवाने का प्लान बना रहे हों?
प्रिया- ओह ये तो काफी डरावना लग रहा है सुनने में, मगर उत्तेजना वाला विषय है।

वैसे राजवीर ने मुझे सुबह बताया कि हम इस होटल से दूसरे किसी ऐसे होटल में शिफ्ट होने वाले हैं जहाँ केवल हम पांच जोड़े ही रहेंगे। वहां समंदर का मजा होगा। बीच की मस्ती होगी, और तो और खाना बनाने वाले भी हम ही होंगे।

सीमा- वाह! ये तो मजेदार है।
रकुल- यानि कि अंधाधुन्ध चुदाई का दौर शुरू होने वाला है।
रीना- वैसे जब हमारे पति हमसे इतनी बड़ी शरारत कर सकते हैं तो क्या हम उनके साथ कोई मस्ती नहीं कर सकते?

सीमा- वाऊ … क्या चल रहा है दिमाग में?
रीना- बस तुम तो अपने मन में वो बन्दा सोच कर बता दो जिसे तुम सबसे ज्यादा चिढ़ाना या गुस्सा दिलाना चाहती हो। बाकी सब मुझ पर छोड़ दो। ऐसा बदला लिया जाएगा कि साले पांचों जिंदगी भर याद रखेंगे।

राजवीर पाठकों से:
जिस तरह कहानी की पांचों नायिकाएं अपना रात का अनुभव एक दूसरे को बताकर नया याराना बना रही हैं, वैसे ही हम मर्दों ने भी रात की और सुबह की बातों को एक दूसरे से बांटा।

कुछ बातें कहानी में आना रह गयीं जो कि महिलाओं ने अपनी सहेलियों को नहीं बताईं. मगर ये कहानी उन्हीं शब्दों को पिराये हुए थी जो महिलाओं ने बातें करते हुए बोले थे.

तो दोस्तो, कैसा लगा ये बातचीत का एक दौर?
रीना के मन में क्या प्लान है जिससे वो हम सबको चौंकाना चाहती है? आगे के 7 दिनों में कैसे-कैसे कारनामों से गुजर कर महा-याराना अपने अंजाम तक पहुंचा? इस सबको जानने के लिए आप लोग बने रहिये अन्तर्वासना पर और पढ़ते रहिये- याराना!

अंजाम यहीं से शुरू होगा। तब तक ई-मेल पर हम सबका याराना कम नहीं होना चाहिए। अपने ईमेल्स के जरिये मुझे जरूर बतायें कि आपको महिलाओं की बातचीत ये नया अंदाज कहानी के रूप में कैसा लगा?
इस कहानी के बारे में और आगे की कहानी के बारे में मुझे अपने सुझाव जरूर भेजियेगा.
आपका राजवीर
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top