मैं पब में दो मर्दों से चुदी- 1

(I Want Sex Daily)

मधु यशस्वी 2021-05-27 Comments

आई वांट सेक्स डेली … अपने भाई के लंड से चुदकर मैं मस्ती करने पब में गई। वहां मेरा पुराना आशिक मिल गया। वो मेरी चुदाई करना चाहता था। वहां कैसे चुदी मैं?

नमस्कार दोस्तो, मैं मधु एक बार फिर अपनी आत्मकथा में आप सभी मुँहबोले पतियों का तह-ए-दिल से स्वागत करती हूं।
कहानी आने में देरी की वजह से मैं आप सभी से माफी भी मांगती हूँ। मैं उम्मीद करती हूं कि आप लोग मुझे माफ़ कर देंगे।

दोस्तो, अगर सच बताऊं तो मैंने कहानी लिखना छोड़ दी थी। मगर आप लोगों ने इतने मेल पर मेल किये मुझे कि मैं मजबूर हो गयी।
मेरी पिछली कहानी
मौसेरे भाई बहन की गांड चुदाई की कहानी
पढ़ने के बाद मेरे सारे पतियों को यही जानना है कि उसके साले सनी ने पब में मेरी चुदाई कैसे की।
तो दोस्तो, आप लोगों के सामने हाजिर है आपकी अपनी मुँहबोली बीवी की पब में चुदाई की गर्म कहानी।

आप लोगों ने पिछली कहानी में पढ़ा कि किस तरह आपके साले (सनी) ने मेरी गांड मारी और गांड मारकर मेरे ऊपर निढाल हो गया।
तकरीबन 20-25 मिनट बाद हम दोनों बेड से उठे और मैं खड़ी हो गयी।

सनी की स्पर्म मेरी गांड से होते हुए चूत और जांघों पर फैल चुकी थी।
मैं सनी को घूरते हुए बोली- अभी नहाई थी! तूने फिर से गन्दा कर दिया।

इस पर सनी मेरे गालों को चूमते हुए बोला- मेरी रानी, ये तो एक भाई का अपनी बहन के लिए प्यार है।
मैं मुस्कराते हुए बोली- अच्छा जी … अगर तेरे जैसा भाई सबको मिल जाये तो बहन को कभी प्यार की कमी ही ना हो।

फिर मैंने समय देखा तो 6 बज चुके थे।
सनी बोला- चलो दीदी, मैं साफ कर देता हूं। फिर हमें पब भी जाना है।

फिर मैं बोली- साले बहनचोद … तू थकता नहीं है?

सनी मेरे बूब्स को हिलाते हुए बोला- साली तू माल ही ऐसी है कि लन्ड कभी थकता ही नहीं है। बल्कि तुझे चोदने के बाद इसमें और शक्ति आ जाती है।
फिर मैं बोली- अच्छा एक बात बता, तू मुझे समझता क्या है?

उसने पूछा- क्या मतलब?
मैंने कहा- मैं तेरी कौन हूं?
सनी- दीदी हो मेरी!

मैंने कहा- तो फिर दीदी को चोदता है कोई?
सनी बोला- तो इसमें दिक्कत क्या है? अगर तुम मेरी सगी बहन भी होती तो मैं तुम्हें चोदता यार … ऐसी माल को हर भाई चखना चाहता है।

फिर मैं बोली- तो विन्नी को क्यों नही चोदता है? वो भी जवान हो गयी है और खूबसूरत भी है।
सनी बोला- यार, चोदना तो कब से चाहता हूँ लेकिन कैसे करूँ ये नहीं समझ में आ रहा है।

मैं बोली- मैं कुछ हेल्प कर दूं क्या?
फिर सनी ने मुझे जोर से गले लगाते हुए कहा- बिल्कुल दीदी! तुम्हारा ये अहसान मैं कभी नहीं भूलूँगा।

तो मैंने सनी को अलग करते हुए अपना मोबाइल लिया और विन्नी को कॉल लगा दी और फोन स्पीकर पर डाल दिया।

कुछ देर तो हमने ऐसे ही नार्मल बातें की।
फिर मैं टॉपिक पर आई और मैंने विन्नी से पूछा- और मेरी छुटकी, अभी भी उंगली से ही काम चला रही ही हो या किसी का लन्ड ले लिया?
फिर विन्नी बड़ी ही बेशर्मी से बोली- अरे कहां दीदी … अभी भी उंगली से कम चला रही हूं। आप बताओ … आपको भैया अच्छे से चोद रहे हैं या नहीं?

यह बात सुनते ही सनी अवाक हो गया।
उसे यह बात पता नहीं थी कि विन्नी यह सब जानती है।

फिर मैं बोली- तेरे भैया तो मुझे मेरे सैंया से भी ज्यादा चोदते हैं। सच में यार सनी के लन्ड में बहुत पावर है। अभी उसने मेरी गांड मारी है और अब हम दोनों पब जा रहे हैं। वहाँ वो न जाने क्या क्या करेगा।

इतने में विन्नी बोली- आपकी तो मौज है दीदी!
मैं बोली- रानी जवानी एक बार मिली है तो ढंग से मौज लो।

फिर विन्नी बोली- ना जाने मेरी सील कब टूटेगी और किसके लन्ड से टूटेगी?
ये सब बातें सनी के सामने हो रही थीं।

इतने में सनी बड़ी ही बेशर्मी के साथ बोला- विन्नी मेरी जान, टेंशन मत ले। तेरी सील तेरा भाई ही तोड़ेगा और तुझे कली से फूल भी मैं ही बनाऊँगा।

मुझे उम्मीद नहीं थी कि सनी ऐसे जवाब देगा।
फिर विन्नी के मुँह से अचानक निकल पड़ा- भैया आप??
ये कहते ही उसने फोन काट दिया।

फोन कटते ही सनी मुझे गले लगाकर बेतहाशा चूमने लगा और बोला- क्या बात है मेरी जान … बहन हो तो तेरी जैसी! भाई के लन्ड का कितना ख्याल करती हो। विन्नी मेरे लिए पटा दी तुमने।

फिर मैं बोली- तू भी तो मुझे किसी से चुदने के लिए नहीं रोकता है। मैं जिससे चाहूं चुदवा लेती हूं और तू रोकता नहीं है। तो मेरा भी फ़र्ज़ बनता है ना कि मैं भी तेरे लिये कुछ करूं।

ये सुनकर सनी ने मुझे एक लंबा स्मूच किया और हम अलग हो गए।

फिर सनी बोला- मेरी रानी अब जल्दी से तैयार हो जा, नहीं तो पब में एंट्री नहीं मिलेगी।
मैं बोली- बिल्कुल मेरे राजा।

मैं बाथरूम में चली गयी।
कुछ देर बाद अपने पूरे शरीर को अच्छे से साफ करके टॉवल लपेट कर बाहर आई।

इतने में सनी मेरे पास आया और बोला- यार ये टॉवल मत डाला करो। तुम नंगी ज्यादा अच्छी लगती हो।

टॉवल खींचकर उसने मुझे नंगी कर दिया।
फिर मैं बोली- तो मिडी क्यों लाये हो? नंगी ही चल लेती हूं पब में!

वो मेरी गांड पर चपेट लगाते हुए बोला- मुझे तो कोई दिक्कत नहीं है लेकिन तेरी गांड फट जाएगी।
मैं हंसते हुए बोली- अभी कौन सी सिली हुई है?

फिर वो मुझे मिडी देते हुए बोला- मेरी प्यारी बहन, ले पहन ले।
मैं बोली- तू इकलौता भाई होगा जो बहन को नंगी भी करता है और कपड़े भी पहनाता है।
वो इस पर तपाक से बोला- और चोदता भी है।

हम दोनों हँस पड़े।

फिर मैं बोली- रुक, ब्रा पैंटी लेकर आती हूं।
सनी बोला- रुक जा मेरी छम्मक छल्लो।
मैं बोली- क्या?
तो सनी बोला- ये बिना ब्रा पैंटी के ही पहनना है।

मैं बोली- पागल हो क्या? फिर पहन कर क्या फायदा? एक तो ये पहले ही इतनी छोटी है।
सनी बोला- यार, यही तो मजा है। जब तक मेरी बहन की जवानी देखकर लोग घायल ना हों तब तक कैसा मजा?

फिर मैंने भी सोचा कि पहन लेती हूं, जो होगी देखी जाएगी।

सनी ने अपने हाथों से मुझे मिडी पहना दी।
मिडी में देखते ही सनी बोला- एकदम पटाखा लग रही हो जान!
उसने मुझे आईने के सामने खड़ी कर दिया।

खुद को देखकर मेरी ही आह निकल गई।

अगर मैं सच बताऊं तो इतनी छोटी मिडी मैंने आजतक नहीं पहनी थी।
आप लोगों ने एक गाना सुना होगा- सुपर गर्ल फ्रॉम चाइना।
उसमें जितनी सनी लियोनी की बूब्स और गांड ढकी थी, उतनी ही मेरी भी ढकी थी। शायद उससे कम ही होगी।

तभी सनी मेरी मिडी के अंदर हाथ डालकर मेरी गांड दबाते हुए बोला- चलें मेरी बहन?
मैं बोली- अब बहन बोलना बन्द कर। पब में भी बहन मत बोलना।

हम घर से निकलकर गाड़ी में बैठे और चल पड़े।
सनी गाड़ी ड्राइव कर रहा था।

आप लोग समझ सकते हैं कि पूरे रास्ते उसने मेरे साथ क्या क्या किया होगा।
उसने मुझे रास्ते में इतना गर्म कर दिया कि मैं अब चुदने के लिए बिल्कुल तैयार थी।

बस मैं सोच रही थी कि पब में कैसे कैसे चुदूँगी।

ये सोचते सोचते कुछ देर में हम पब पहुँच गए।

जैसे ही गाड़ी से मैं उतरी सब मुझे ही घूर रहे थे।

कुछ तो आपस में बातें कर रहे थे- क्या माल है यार … आह्ह इसकी गांड तो देख … इसके बूब्स … ओह।

सनी और मैं एंट्री टिकट लेने के लिए गये।

तब हमें पता लगा कि पब में सारी टिकट बुक हो चुकी हैं।
मैं यह सुनकर काफी निराश हुई और मुझे बहुत गुस्सा भी आ रहा था।

मैं सनी पर भकड़ी और बोली- ये सब तेरे कारण हुआ है। पूरी प्लानिंग बेकार कर दी।
फिर सनी बोला- तू टेंशन मत ले. मैं कुछ करता हूं।

मेरा मूड खराब हो गया और मैं गुस्से से लाल होकर गाड़ी की ओर जाने लगी।

तभी अचानक मेरे सामने एक गाड़ी आकर रुकी।
मैं गुस्से से गाड़ी वाले को देखते हुए आगे चल दी।

तभी मेरे पीछे से आवाज़ आयी- मधुजी!
मैं सुनते हुए अनसुना कर दिया।
मैंने सोचा कि कोई दूसरी मधु होगी।

फिर उसने आवाज़ लगाई- मधुजी … मधुजी!
मैंने पीछे मुड़कर देखा तो एक लड़का मेरी ओर आ रहा था।

वो मेरे पास आते हुए बोला- ओह माई गॉड … इतने दिनों बाद आपको देखा है।
मैं बोली- कौन हो आप?

वो बोला- यार, आप तो पहले से भी ज्यादा हॉट हो गयी हो।
फिर मैं बोली- एक्सक्यूज मी … आप क्या बदतमीजी कर रहे हैं? ढंग से बात कीजिये।

उसने सॉरी बोला और कहा- मधु जी मैं राजीव!
मैं बोली- कौन राजीव?
अंधेरे के कारण उसका चेहरा अच्छे से दिखाई नहीं दे रहा था।

वो बोला- मुझे पता था आप मुझे भूल जाओगी।
मैं बोली- पहेली मत बुझाओ, कौन हो बोलो?

फिर वो बोला- मधुजी आप शायद भूल गयी हो। मैं आपको याद दिलाता हूं।
वो बोला- मधुजी मैंने आपके दो कपड़े उतारे थे और इंस्टीट्यूट की छत पर आपको नंगी करके आपकी चूचियों को चोदा था।

फिर मुझे याद आ गया कि ये राजीव है जिसने शादी से पहले ही मेरे अंगों के साथ एक बार खेला था।
इसके बारे में चर्चा मैंने अपनी पिछली कहानी
मेरी गांड का दीवाना और मेरी चूची चुदाई में की है।

मैं नाटक करते हुए बोली- पागल हो क्या? ये सब क्या बोल रहे हो?
फिर वो बोला- मधुजी, मैं राजीव … शायद आपको याद नहीं आ रहा है। आपका बॉयफ्रेंड संतोष था ना?

सुनकर मैं बोली- हाँ तो?
फिर वो बोला- एक दिन संतोष भैया आपकी गांड मार कर चले गए थे और फिर मैं आपको ऊपर ले गया था और आपको नंगी करके आपके बूब्स को चोदा था।

मैं आश्चर्य करते हुए बोली- अच्छा तो वो हो तुम!
वो खुश होते हुए बोला- जी हाँ।
फिर वो बोला- आप देहरादून में क्या कर रही हो?

मैं बोली- शादी के बाद यही शिफ्ट हो गयी हूं।
फिर मैं बोली- तुम यहाँ कैसे?
तो वो मुझे छेड़ते हुए बोला- अपना काम पूरा करने के लिए आपका पीछा कर रहा हूँ।

फिर मैं बोली- कैसा काम?
वो बोला- वही उस दिन इंस्टीट्यूट में जो अधूरा काम रह गया था।
मैं बोली- तुम पागल हो गए हो? अब मैंने वो सब छोड़ दिया है। मेरी अब शादी हो चुकी है।

वो बोला- कोई बात नहीं, मैं तो ट्राई करता ही रहूँगा।

फिर उसने पूछा- इस समय यहाँ क्या कर रही हो?
मैं बोली- यार, पब के लिए आई थी लेकिन एंट्री बन्द हो चुकी है।

वो बोला- अकेले पब जाओगी क्या?
फिर मेरे मुँह से अचानक निकल गया कि मेरे पति साथ आये हैं।
राजीव बोला- कहां है वो लकी इंसान?

मैं बोली- लकी क्यूं?
उसने कहा- यार तुम जैसी माल किस्मत वालों को ही मिलती है।
फिर मैं मुंह सा बनाते हुए बोली- तुम मुझे माल बोल रहे हो?

उसने मेरे गाल को टच करते हुए कहा- बहुत कड़क माल हो यार तुम!
मैं कुछ बोलती उससे पहले ही सनी आ गया और बोला- दीदी, पास भी नहीं मिल पाया।

ये सुनते ही राजीव चौंक गया।
मैंने उसे पति बताया था और वो मेरा भाई निकला।

राजीव ने मेरे कंधे पर हाथ रखते हुए कहा- तुम्हारा पति तुम्हें दीदी बोलता है? और एक बात मैं बता देता हूं. मैंने तुम्हारे पति की फोटो देखी है।

सनी ने दीदी बोलकर मुझे फंसा दिया था।
फिर मैं बात संभालते हुए बोली- यार, पति टूर पर गए हैं मैंने अपने बॉयफ्रेंड को बुला लिया था।
राजीव बोला- तो तुम्हारा बॉयफ्रेंड तुम्हें दीदी बोलता है?

मैं बोली- यार, आज हम लोग भाई-बहन बनकर मजे करने वाले थे।
वो मुझे एक जोरदार किस करते हुए बोला- ये है मेरी असली मधु।

फिर वो बोला- मधुजी, मेरी एक तमन्ना पूरी कर दो यार!
मैं बोली- कैसी तमन्ना?
वो बोला- आप मेरी ड्रीम गर्ल हो। बस एक बार मेरे साथ भी सेक्स कर लो?

मैं बोली- पागल हो क्या? समझ क्या रखा है मुझे?
वो डरते हुए बोला- मधुजी .. देखो ये आपका नया बॉयफ्रेंड है मगर मैं इससे पुराना हूं। प्लीज एक बार मौका दे दो। आप मेरी ड्रीम गर्ल हो।

उससे मैंने कहा- क्या ड्रीम गर्ल … ड्रीम गर्ल … लगा रखा है??
फिर राजीव बोला- सही कह रहा हूं यार!
फिर उसने अपना मोबाइल निकाला और अपना स्क्रीन दिखाया।

उसने मेरी ही फ़ोटो लगा रखी थी।
जिसे देखकर मुझे अजीब सा लगा कि कोई इंसान मुझे ऐसे भी चाहने वाला है।

वो बोला- सिर्फ एक बार मधुजी, आपको पब जाना था ना तो मैं ले जाऊंगा। मैं पब में ही आपके साथ सेक्स करूँगा। आपको बहुत मजा आयेगा।

मैंने सोचा पब में तो मैं चुदने ही आयी थी।
मैंने कहा- टिकट है तुम्हारे पास?
वो बोला- आप उसकी चिंता न करो। ये पब मेरे दोस्त का ही है।

मैंने बोली- अच्छा।
मैंने सोचा कि मैं अंदर चली जाती हूं. वैसे भी यहां चुदने ही आयी थी। अब बस इतना फर्क होगा कि भाई के लंड की जगह मेरी चूत में मेरे दीवाने का लंड होगा।

मैं कुछ बोलती इतने में ही राजीव बोला- प्लीज़ मधुजी मान जाओ ना? बहुत दिन बाद मौका मिला है।
मैं बोली- ठीक है, देखती हूं.

अब मैं सोच रही थी कि सनी भी यहीं है। इसके साथ सनी के रहते चुदाई कैसे करूंगी।
सनी अभी कॉल पर ही था। मैंने उसे कॉल रखने को कहा।

मैंने सनी को सारी बात बतायी कि कैसे राजीव मुझे चोदना चाहता है।
सनी बोला- चुदने का मन है तो चुदवा लो।
बस सनी मुझे इसलिए पसन्द था। चाहे मैं किसी से भी चुदना चाहूं वो मुझे कभी नहीं रोकता था।

इतने में ही सनी बोला- आज के अपने पति को अच्छे से निचोड़ लेना।
उसने मुझे हंसते हुए गले से लगा लिया और मेरे गाल पर किस भी की।

फिर मैं भी सनी को छेड़ते हुए बोली- आज के जीजू को कुछ टिप्स दे दो ताकि तुम्हारी बहन को अच्छे से चोदकर प्यास बुझा सके वो!

मेरे इतना कहते ही सनी राजीव के पास जाने लगा।
मैं तो मजाक कर रही थी लेकिन वो तो सही में टिप्स देने चला गया। मैं भी पीछे पीछे गयी।

सनी ने राजीव से हाथ मिलाया और बोला- लकी हो बॉस … जो मेरी मधु पर चढ़ाई करने जा रहे। ऐसी पटाखा दोबारा तुम्हें नहीं मिलेगी इसलिए ढंग से चढ़ाई करना।
राजीव बोला- बिल्कुल सर … आज तो मधुजी की इतनी सेवा करूँगा कि वो भी खुश हो जाएगी।

सनी ने मुझे गले लगाया और मेरी गांड दबाते हुए धीरे से मेरे कान में बोला- मेरी बहना … अच्छे से चुदना … एन्जॉय योर राइडिंग। (अपनी चुदाई की सवारी का मजा लेना)

सनी वहां से चला गया।

फिर राजीव ने अपने दोस्त को कॉल किया। उसके दोस्त ने बोला कि वह थोड़ी देर में आ रहा है।

इतने में राजीव ने मेरी कलाई को उठाया और चूमते हुए बोला- थैंक यू मधुजी मुझे ये मौका देने के लिए।
मैं बोली- मौका तो दे दिया है, अब देखना है कि तुम चौका मार पाते हो या नहीं।
वो बोला- चौका नहीं, आज तो छक्का मारूँगा।

राजीव बोला- जब तक मेरा दोस्त आता है तब तक गाड़ी में बैठते हैं।
मैं बोली- ठीक है।
फिर उसने मेरे लिए अपनी गाड़ी के पीछे के दरवाजे को खोला और मैं कार के अंदर बैठ गयी।

फिर दूसरी तरफ से राजीव भी आकर बैठ गया। बैठते ही उसने मेरे गाल पर किस करते हुए बोला- यार तुम तो पहले से भी ज्यादा बोल्ड और हॉट हो गयी हो।

मैं इतराते हुए बोली- पैदा ही मैं हॉट हुई थी।
फिर वो बोला- काश तुम मेरी बीवी होती।
इतने में मैं बोली- बिना बीवी बनाये ही बीवी का मज़ा ले रहे हो अब और क्या चाहिए?

वो हंसते हुए बोला- यार, तुम्हारी ये बात मुझे सबसे अच्छी लगती है।
मैं चौंकते हुए बोली- कौन सी बात?
राजीव बोला- जब हम पहली बार मिले थे उस दिन भी तुमने ब्रा पैंटी नहीं पहनी थी और आज भी ब्रा पैंटी नहीं पहनी है।

मैं चौकते हुए बोली- तुम्हें कैसे पता?
राजीव मेरे बूब्स दबाते हुए बोला- रानी, तुम्हारे बूब्स और गांड सब कुछ बता रही है।

मैं इतराती हुई बोली- ब्रा पैंटी खरीदने के पैसे नहीं है।
फिर वो मेरी मिडी में हाथ डालने लगा।

तभी उसका फोन बजा।
उसके दोस्त का फोन था।

हम लोग गाड़ी से बाहर निकले।

राजीव के दोस्त ने मुझे जैसे ही देखा उसका मुँह खुला का खुला रह गया।
राजीव बोला- क्या हुआ?
उसके दोस्त ने कहा- क्या माल है यार … ये तो कमाल है।

उसका दोस्त मेरे पास आया और मुझसे हाथ मिलाने लगा।
उसने अपना नाम मयंक बताया।

चूंकि वो देखने में काफी स्मार्ट था इसलिए मैंने भी हैंडशेक किया और अपना नाम बताया।

फिर मयंक बोला- क्या मैं आपको हग कर सकता हूं?
मैंने कहा- हां, क्यों नहीं?
वो मेरे गले लग गया और अपनी छाती से मेरी चूचियों को दबाने लगा. मुझे भी मजा आ रहा था।

ये देख राजीव ने बीच में टोका तो हम दोनों अलग हो गए।

हम अंदर पब में गये और वहां पर हमने थोड़ी थोड़ी दारू पी।
वैसे तो मैं नहीं पीती हूं लेकिन उस दिन मैं मना नहीं कर पाई।

दारू अपना काम करने लगी। मेरे ऊपर खुमारी चढ़ने लगी थी।

फिर मैं बोली- चलो डांस करते हैं।
राजीव उठा और बोला- हाँ चलो डांस करने!

उसने मेरा हाथ थाम लिया।
मैंने मयंक को भी चलने के लिए कहा।

वो कहने लगा- आप लोग ही चले जाओ! मेरी गर्लफ्रेंड नहीं आई है।
मैं बोलती इससे पहले राजीव बोल पड़ा- मधु है हम दोनों की गर्लफ्रेंड।

ये सुनकर मेरी तो जैसे मुहमांगी मुराद पूरी हो गयी हो। आप जानते ही हो कि आई वांट सेक्स ऑलवेज!

मयंक बोला- नहीं, मधु बुरा मान जाएगी।
मैं थोड़ी सी मदहोशी में बोली- चलो … नहीं बुरा मानूँगी मैं!

हम तीनों डांस करने चल पड़े।

अब आप लोग सोच सकते हो एक लड़की और दो लड़के कैसे डांस करेंगे।
हम लोग डांस फ्लोर पर आ गए और तीनों डांस करने लगे।

पहले 5-10 मिनट तो हमने नार्मल डांस ही किया। फिर उसके बाद उन दोनों पर मेरे बदन की गर्मी सवार हो गयी।
फिर जो दोनों ने मिलकर जो मेरे साथ डांस किया वो मैं आजतक नहीं भूल पाई हूं।

हम लोग दो-तीन घंटे तक पूरी तरह से चिपक कर डांस करते रहे।

दोस्तो, अभी मेरी चुदाई की कहानी समाप्त नहीं हुई है। मैं अभी पब में चुदाई करवाऊंगी। आपको आगे की स्टोरी के लिए थोड़ा इंतजार करना होगा।

मैं उम्मीद करती हूं कि मेरे सारे पतियों को आपकी अपनी बीवी मधु की यह कहानी भी अच्छी लगी होगी। अब आगे बताऊंगी कि आपकी बीवी को किस तरह से उन दोनों ने चोदा। तब तक के लिए आप सभी को मधु की तरफ से प्यार भरी पप्पी। मुआह्ह …

आप लोग अपनी राय मुझे मेल कर सकते हैं या फिर कहानी के नीचे दिये कमेंट बॉक्स में अपने कमेंट के जरिये भी बता सकते हैं। आपकी प्यारी बीवी मधु।
[email protected]
Instagram : madhu.honeey

आई वांट सेक्स कहानी का अगला भाग: पब में दो मर्दों से चुदी- 2

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top