यारों का महायाराना-4

(Yaaron Ka Mahayarana- Agaaz- Part-4)

This story is part of a series:

दोस्तो, कहानी के पिछले भाग में आपने देखा कि मेरी बीवी रीना और मेरे दोस्त रणविजय ने चुदाई के मजे लिये. फिर बारी थी मेरे साले श्लोक की बीवी सीमा की चुदाई उसके दोस्त से होने की.

उसकी चुदाई तो नील ने बहुत मस्त तरीके से की. आपको पता है कि नील एक बहुत ही सजीला लड़का है और उसका लम्बा लिंग कुएं से गहरी चूतों का भी पानी निकालने का दम रखता है. सीमा भी नील के लंड से चुद कर खुश हो गयी और सो गयी.

अब मेरे भाई विक्रम और मेरे दोस्त की बीवी प्रिया की चुदाई का मजा विक्रम के ही शब्दों में, अब आगे की कहानी की शुरूआत:

जैसा कि पहली याराना की कहानी से यह आपको पता है कि राजवीर और रणविजय पड़ोसी थे और आमने-सामने उनका घर था। मैं विक्रम जोकि राजवीर का छोटा भाई था इस नाते मैं रणविजय और उनकी बीवी प्रिया का पड़ोसी हुआ।

राजवीर भैया के जयपुर जाने के बाद मेरी दोस्ती रणविजय से हुई और इस दोस्ती में ही मुझे पता चला था कि कैसे राजवीर भैया और रणविजय ने मिलकर अपनी बीवियों प्रिया और रीना की अदला बदली करके चुदाई का आनंद लिया।

जब से मुझे पता चला तो मेरी पूर्व प्रेमिका रीना को देखने का नजरिया मेरे लिए फिर बदल गया क्योंकि मैं राज भैया से रीना की शादी के बाद उन्हें मन से भाभी मानने लगा था।

लेकिन पहले याराना का पता चलने के बाद से मेरे मन में फिर मेरी पूर्व प्रेमिका रीना और मेरी वर्तमान भाभी के लिए मेरे मन में वासना जाग गई थी।

जिस तरह मुझे रीना भाभी में वासना नजर आने लगी उसी तरह रणविजय की बीवी प्रिया को भी देखने का मेरा नजरिया बदल गया। पहले जो मुझे दोस्त की बीवी नजर आती थी मुझे उसमें सेक्सी भाभी नजर आने लगी।

पड़ोसन होने के नाते मुझे प्रिया अक्सर दिख जाया करती थी जो कि इलियाना डिक्रूज के जैसी आकर्षक देह की मालकिन थी।
राज भैया के प्रिया को चोद पाने की किस्मत पर मुझे जलन होती थी और लगता था कि काश मैं राज भैया की जगह होता।

लेकिन आज राजवीर भैया के चालू दिमाग के वजह से ही यह संभव हो पा रहा था कि मैं अपने दोस्त रणविजय की बीबी प्रिया को चोदने जा रहा था ।

जैसे ही मैं कमरे के अंदर घुसा तो देखा कि प्रिया ने एयर कंडीशनर का इस्तेमाल करके कमरे को बहुत ठंडा कर रखा था और खुद रजाई ओढ़ कर मोबाइल चलाने में मग्न थी।

मैंने कमरे में घुसते ही उसे आंख मारी और कहा- पहचाना?
जैसा कि आपको पहली याराना में बताया था कि रणविजय और मेरे घर वालों में बोलचाल नहीं थी इस वजह से इससे पहले प्रिया और मेरी कभी बात नहीं हुई थी लेकिन हम एक दूसरे को पड़ोसी होने के नाते चेहरे से तो पहचानते जरूर थे।

प्रिया एकदम से शॉक्ड हो गई। उसने अपनी गर्दन तक खुद को रजाई में छुपा लिया और केवल अपने चेहरे को बाहर निकाल कर आंखें फाड़ कर मुझे देखते हुए बोली- विक्रम तुम???

वैसे तो मुझे प्रिया का इस तरह बड़ी आंखें करके आश्चर्यचकित होना ही भा गया था। मैंने उसके आकर्षक चेहरे से ध्यान हटाया और ध्यान दिया कि प्रिया ने अपने आपको रजाई में इस तरह क्यों छुपा लिया है। वैसे भी जब मैं कमरे में आया था तब भी मुझे रजाई में से उसके केवल हाथ और गर्दन ही नजर आ रहे थे जिनके इस्तेमाल से वह मोबाइल चला रही थी।

मुझे समझते देर नहीं लगी कि शायद प्रिया रजाई में बिना कपड़ों के सो रही है।
तब मैंने खड़े-खड़े प्रिया से कहा- मेरी जानेमन। जानकर हैरान मत होना कि मुझे तुम्हारे पति रणविजय से पता चला था कि तुमने मेरी भाभी रीना के साथ अपने पतियों की अदला-बदली की थी और भरपूर चुदाई का आनंद लिया था।
जैसा कि राजवीर ने अपने दोस्त रणविजय को यह भी बताया है कि वह अपने साले श्लोक की पत्नी के साथ जयपुर में अदला-बदली का आनंद ले रहा है तो रणविजय और मैंने सोचा कि क्यों ना हम भी इस अदला-बदली का आनंद लें और जैसे कि पहले राजवीर और रणविजय दोस्त थे वैसे अब रणविजय और मैं पक्के दोस्त हैं।
इस नाते हमने यह सरप्राइज़ साथियों की अदला बदली का कार्यक्रम यहां मालदीव में रखा है। अब तुम्हारा पति रणविजय मेरी बीवी वीना की चुदाई कर रहा होगा और मैं यहां तुम्हारे पास आया हूं।
क्या तुम्हें यह अदला-बदली स्वीकार है मेरी जान?

प्रिया- ओह फक। यह रणविजय तो मुझे हर्ट अटैक से मार देगा। कम से कम पहले बताना तो चाहिए था। मुझे उससे बात करनी करनी है अभी और डांट लगानी है।

ये बोल कर प्रिया रणविजय को फोन करने लगी।

विक्रम- क्यों वीना और रणविजय को डिस्टर्ब कर रही हो? क्या तुम्हें मुझ पर विश्वास नहीं? अब तक तो शायद वह एक दूसरे के आलिंगन में बंधे होंगे। क्या मैं तुम्ह पसन्द नहीं? क्या तुम्हें यह सरप्राइज अच्छा नहीं लगा?

प्रिया- ओह यह सरप्राइज़ तो बहुत ही क्यूट है लेकिन धड़कनों को बढ़ाने वाला है। ऐसे सरप्राइज मेरी जान ले सकते हैं।

इतने में मैंने अपनी शर्ट उतारी और बेड पर कूद गया और प्रिया से कहा कि मैं यहां तुम्हारी जान लेने नहीं तुम्हारी चूत लेने आया हूं। जैसे ही मैं पलंग पर कूदा प्रिया ने अपने आपको रजाई में दुबका लिया। मैंने रजाई का एक सिरा पकड़ कर रजाई में खुद को घुसा लिया।

मेरा अनुमान लगभग सही निकला. प्रिया रजाई में टॉपलेस थी यानी कि उसने मात्र एक पतले कपड़े की जालीदार अंडरवियर पहनी हुई थी और अपने आकर्षक स्तनों को पूर्ण रूप से नग्न करके रणविजय का इंतजार कर रही थी।

हमारी आंखें एक दूसरे से मिलीं और इससे पहले कि मैं कुछ कहता, प्रिया ने समर्पण कर दिया और अपनी आंखें बंद करके मेरे होंठों से अपने होंठों को मिला लिया. हम गहरे चुम्बनों में डूब गए.

मेरे हाथ प्रिया के स्तनों पर घूमने लगे. जैसा कि आपको पता है कि प्रिया की देह इलियाना डिक्रूज के जैसी है यानि कि आप समझ गए होंगे कि प्रिया के बम कुछ ज्यादा ही आकर्षक और फैले हुए होने के साथ ही बड़े भी थे।

प्रिया के शरीर में सबसे ज्यादा आकर्षण का केंद्र उसकी गांड थी, जो अगर कोई देख भी ले तो अपने हाथों से ही अपने लन्ड को मसलने लग जाए और मेरे पास तो आज यह सुंदर सेक्सी गांड वाली महिला अपनी गाँड समर्पित करने वाली थी। मैं वास्तव में खुद को आज नसीब वाला समझ रहा था और मन में राजवीर भैया को थैंक्स बोल रहा था।

उस सुंदरी के आकर्षक चेहरे को चूसने चाटने के बाद मैंने उसके वक्ष स्थल पर चुम्बनों की झड़ी लगा दी। उसके पेट, पीठ को चाट चाट कर उसकी उत्तेजना को चरम पर पहुंचाया। रजाई के अंदर ही नीचे आकर उसके मोटी गांड पर अपने हाथ को घुमाया और अपने मुंह से उसकी गांड को चूसना काटना शुरू कर दिया।

प्रिया ने अपनी गांड को मेरे मुंह पर दबाना शुरू किया। मैंने प्रिया की गांड के छेद का पता लगाकर उसमें अपनी जीभ फिराना शुरू किया। जीभ से उसकी गांड का चोदन शुरू किया। यह करते-करते मैंने प्रिया की चूत को भी अपनी जीभ से चोद चोद कर गीला कर दिया।

उत्तेजित होकर प्रिया ने मुझे मेरी जीन्स उतारने का इशारा किया और मैं अपनी जींस उतार कर प्रिया के आलिंगन में आ गया। उसका नाजुक शरीर मेरे मजबूत शरीर से लिपट गया और मेरे शरीर से वह लिपटकर उत्तेजना का अनुभव कर रही थी।

उसके शरीर को चूसने चाटने की वजह से उसकी चूत इतनी गीली हो गई थी कि मेरे लिंग ने अपने आप ही उसकी चूत का दरवाजा ढूंढ लिया और प्रिया की चूत में समाहित हो गया। मैंने जोरदार तरीके से प्रिया को चोदना शुरु कर दिया। करीब 10 मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों बह गए।

लेकिन प्रिया की नंगी गांड को देखकर मेरे लिंग ने दूसरी बार तैयार होने में ज्यादा समय नहीं लगाया। प्रिया का हाथ मेरे लिंग पर था और उसे महसूस हो गया कि मेरा लन्ड एक बार फिर सलामी देने के लिए तैयार है।

मैंने फिर से अपने मुंह को प्रिया की सेक्सी गांड के अंदर घुसा दिया और उसकी गांड को अगले राउंड के लिए तैयार किया और अपने सपने को साकार करने के लिए अपने लिंग को प्रिया के मुंह में देकर चुसवाने लगा.

उसके मुंह में लंड को देकर मैंने दो मिनट तक चुसवाया. उसको मेरे लंड में कुछ स्वाद सा मिल रहा था. मैंने नहीं सोचा था कि वो मेरे लंड को इतनी मस्ती में चूस लेगी. मैंने उसे लंड चुसवाकर अपने लिंग को चिकना किया और प्रिया को घोड़ी बनाकर उसकी गांड में लिंग घुसाने की तैयारी कर दी।

करीब 5 मिनट की धीमी कोशिश के बाद मैंने अपना पूरा लिंग प्रिया की गांड में पेल दिया और प्रिया की गांड मारनी शुरू कर दी।
वाह क्या नजारा था! डॉगी स्टाइल में प्रिया की गांड को पकड़कर अपने लन्ड की तरफ खींचना और फिर बाहर की तरफ धकेलना।

ऐसा करने पर मुझे गर्व की अनुभूति हो रही थी कि वाह … आज क्या चोदने का सामान मिला है। मजा आ गया। उसकी गांड को चोद कर मैं खुद में ही फूला नहीं समा रहा था. उसकी गांड ऐसी थी कि मैं खुद को सम्मानित महसूस कर रहा था. ऐसी गांड भला किसे चोदने के लिए मिलती है, यही सोच सोच कर मैं फूला जा रहा था.

उत्तेजना से मेरा लन्ड इतना तनतना गया था कि जितनी देर में मैं झड़ता था उससे आधी देर में मैंने अपना गर्म लावा प्रिया की गांड में उड़ेल दिया।

अब हम एक दूसरे पर निढाल होकर गिर गए और इधर उधर की बातें करने लगे। मतलब कि हम एक दूसरे को कितना पसंद करते हैं और एक दूसरे में क्या पसंद है वगैरह वगैरह बातें होती रहीं. ऐसा करते करते हमें नींद आ गई।

राजवीर के शब्दों में (अपने पाठकों से)-
दोस्तो, अगर आप याराना के शुरू से पाठक हैं तो फिर श्लोक की चुदाई के बारे में तो आप जानते ही होंगे। श्लोक चुदाई की वह मशीन है जो अगर एक बार शुरू हो जाता है तो खत्म होने का तब तक नाम नहीं लेता जब तक कि सामने वाली हसीना की गांड में पसीना नहीं आ जाता।

कहते हैं ना कि सड़क कभी नहीं थकती उस पर चलने वाली गाड़ी का तेल खत्म हो जाता है. लेकिन श्लोक की गाड़ी जब शुरू होती है तो सड़क भी पानी मांगने लग जाती है।

जैसा कि तय हुआ था श्लोक को आज विक्रम की बीवी वीना को चोदने का मौका मिलने वाला था।
अगर कहानी पर ध्यान दें तो विक्रम श्लोक की बहन रीना का कॉलेज के समय में प्रेमी हुआ करता था। अब आप ही बताओ कि बहन के प्रेमी को देख कर भाई की तो जलेगी ही न।
तो आज श्लोक वह कसर मेरे भाई विक्रम की बीवी वीना के साथ निकालने वाला था।

आपने कहानी शुरू से पढ़ी है तो पता होगा कि वीना बचपन से हमारे साथ ही रही थी और विक्रम के साथ सोशल मीडिया पर उसके प्रेम संबंध पनपने के कारण उन दोनों की शादी हो गई थी।

वीना ने मुझे और रीना को सहवास करते हुए देख लिया था. उसके बाद से वीना की मुझ में रुचि थी जोकि याराना के तीसरे भाग में अंजाम तक पहुंची थी।

वीना संग श्लोक का कार्यक्रम सुनिए श्लोक के शब्दों में-

मैं वीना के कमरे में घुसने के लिए चाबी गेट में लगा ही रहा था कि खटपट की आवाज सुनकर वीना ने ही लॉक खोलने से पहले दरवाजा खोल दिया। लेकिन उसे यह उम्मीद नहीं थी कि दरवाजे पर मैं यानि कि श्लोक हूंगा. वह तो अपने पति विक्रम का इंतजार कर रही थी।

श्लोक- हैल्लो।
वीना- श्लोक जी आप!
(वीना जानती थी कि मैं उनके जेठ का साला हूं। वीना को यह भी पता था कि उनका जेठ यानि राजवीर अपने साले यानि श्लोक यानि मेरे साथ चुदाई के लिए जयपुर में साथ रहते हुए बीवियां बदलते थे.)

श्लोक- जी वीना जी। मैं भी सीमा के साथ मालदीव घूमने आया हुआ था।
वीना- क्या यह इत्तेफाक है? या आप और विक्रम मिलकर यहां हमें घुमाने लाये हैं?

श्लोक- आपको क्या लगता है?
अंदर आते हुए मैंने कहा.

वीना- इत्तेफाक लगता अगर हम हमारे देश में होते लेकिन दुनिया के सारे देशों को छोड़कर एक ही देश में एक ही होटल में मिलना इत्तेफाक तो नहीं हो सकता।

श्लोक- क्या बात है रश्मि देसाई की कार्बन कॉपी। आप तो दिमाग से भी बेहद स्मार्ट हो।
वीना- तो यह सब इतना छुप-छुपाकर क्यों? हम घर से भी तो साथ साथ आ सकते थे न?

श्लोक- यह एक सरप्राइज़ रखना था कि हम यहाँ आएं तो अपने अपने साथियों के साथ, लेकिन सोयें एक दूसरे के साथी के साथ।

वीना- क्या मतलब! सोएं एक दूसरे के साथी के साथ?

श्लोक- प्यारी सुंदर सेक्सी वीना जी। हमें पता है कि आपको यह पता है कि राजवीर रीना ने अपने साथियों की अदला बदली मुझसे और मेरी बीवी सीमा से की हुई है और आपको यह भी पता है कि मैं बहनचोद हूं।
आपको यह जानकर आश्चर्य होगा की मुझे यह भी पता है कि राजवीर भैया के साथ आप और आपके पति विक्रम भी अदला-बदली की चुदाई का आनंद ले चुके हैं।

यह सुनकर वीना का चेहरा लाल हो गया और उसने अपने दोनों हाथों से अपने चेहरे को छुपा लिया. उसे श्लोक से एकदम से इस बात की अपेक्षा नहीं थी।

श्लोक- क्या मैंने राज़ खोलने में कुछ जल्दी कर दी?
वीना ने एक गहरी सांस ली और सामान्य होकर बोली- हम दीवार के पीछे नंगे होकर अपने कपड़े बदल रहे थे. इस बात से अनजान होकर कि दीवार कांच की है।

यह बोल कर सीमा सामान्य होने का दिखावा सा करने लगी लेकिन शर्म उसके चेहरे पर अभी भी छुईमुई के जैसे तैर रही थी.
वीना- क्या विक्रम अभी आपकी वाइफ सीमा के साथ है?

श्लोक- हां जी, ऐसा ही है।
वीना- वाओ … इट्स अमेजिंग। विक्रम वैसे भी सीमा के बारे में बातें करता था कि काश उसे कृति सेनन जैसी सेक्सी सीमा को चोदने का मौका मिल जाए।

श्लोक- अरे विक्रम ने क्या सीमा के सपने देखे होंगे। सपने तो हमने देखे हैं कि सीरियल की रानी रश्मि देसाई जैसे चेहरे वाली किसी हसीना को अपनी चुदाई से खुश कर सकें।

वीना मेरी इस बात पर हंसते हुए बोली- बेशक… एक राज और पता है हमें आपका कि जिसको नीचे लेते हैं आप, उसकी रेल बना देते हैं।
श्लोक- हां जी, सफर करके देख लीजिए। इस पेलगाड़ी ने आपको रेलगाड़ी न बना दिया तो नाम बदल दीजिएगा।

इतना कहते हुए श्लोक ने वीना को अपनी बांहों में जकड़ लिया।
वीना ने कहा- नाम तो हम आपका वैसे भी बदल देंगे या तो कहेंगे आपको पोर्न स्टार या जॉनी सिंस नाम रख देंगे।

श्लोक ने जंगलियों की तरह वीना को किस करना शुरू कर दिया. इस पर वीना ने भी जंगलीपन से ही श्लोक को चूमना शुरू कर दिया।
उनके सेक्स की शुरूआत कुछ ऐसी रही कि लग रहा था कि आज दोनों जमकर वाइल्ड सेक्स करने के मूड में हैं।

वीना जींस और टीशर्ट में थी और श्लोक भी जींस और टीशर्ट में था। दोनों ने एक दूसरे के कपड़ों को खींच खींच कर उतारा और दोनों ही अंडरगार्मेंट्स में आ गये।
श्लोक ने हब्शीपन दिखाते हुए वीना की ब्रा खोलने की बजाए खींच कर फाड़ डाली।

जवाब में वीना ने भी श्लोक की बनियान फाड़ डाली।
वीना ने कोशिश की कि श्लोक की अंडरवियर भी फाड़ दे पर वह ऐसा नहीं कर सकी।

लेकिन श्लोक वीना की पैंटी फाड़ने में सफल हो गया। यह प्यार कम और लड़ाई ज्यादा लग रही थी। वीना के गोरे और गोल, बड़े बड़े स्तन इस छीना झपटी से लाल हो गए थे। वीना की जांघें भी लाल हो गयी थी।

श्लोक ने वीना को पलँग पर धक्का देकर गिरा दिया और अपनी अंडरवियर खुद उतार कर वीना पर टूट पड़ा।
उसने वीना के कूल्हों को ऊंचा करके अपने हाथों से चांटे मारना शुरू कर दिया। वीना ने उत्तेजित होकर इंग्लिश में श्लोक को गालियां देना शुरू कर दिया.

वीना- ओह्ह, फक मी हार्डर यू बास्टर्ड। यू सिस्टर फकर!
(मुझे जोर से पटक कर चोदो कमीने कहीं के, बहनचोद, मेरी चूत को फाड़ दे)

श्लोक यह सुनकर उत्साहित हो गया और अपने हाथ से वीना के स्तन मसलते हुए बोला- यू व्हॉर, आई विल डिस्ट्रॉय यूर पुसी एंड एस्स होल। यू डोन्ट नो मी, यू फकिंग बिच! (साली रंडी, मैं तेरी चूत और गांड को फाकड़कर रख दूंगा. तुम मुझे जानती नहीं हो साली चुदक्कड़ कुतिया)

वीना ने श्लोक को पलंग पर धकेल दिया और उसके मुंह पर अपनी चूत को जोर से रगड़ने लगी. अपनी चूत को उसके मुंह पर आगे पीछे और ऊपर नीचे मसलते हुए वो सिसकारने लगी- कमॉन, लिक माई पुसी, यू ब्लडी डॉग। (चल चाट मेरी चूत को, साले हरामी पिल्ले, चाट कुत्ते)

श्लोक ने वीना को उठा दिया और फिर एक दूसरे को 69 की मुद्रा में समायोजित किया. अब श्लोक वीना के ऊपर था और वीना श्लोके के नीचे आ गयी थी।
श्लोक ने वीना के मुह में लन्ड डाल दिया और खुद 69 की अवस्था में वीना की गुलाबी चूत को जीभ से चोदने लगा।

वीना के मुंह में लंड के जोर जोर से झटके देते हुए श्लोक कहने लगा- फकिंग यूअर माउथ बेबी, लिक इट लाइक एन आइसक्रीम. टेक इट ऑल इन यूअर माउथ. (तेरे मुंह को चोद रहा हूं साली, इसको आइसक्रीम की तरह चाट ले. इसको पूरा मुंह में ले साली)

इतने में ही वीना की चूत ने पानी छोड़ दिया. वीना की चूत बहने लगी. मगर श्लोक अभी भी वीना के मुंह में अपने लंड के धक्के लगा रहा था. वो तब तक वीना के मुंह में धक्के लगाता रहा जब तक कि वीना ने श्लोक को जोर से धक्का न मार दिया.

वीना कुछ संभल पाती इससे पहले ही श्लोक बेड पर बैठ गया और उसने वीना को अपनी गोद में खींच लिया. अपनी गोद में लेकर उसने वीना के स्तनों में मुंह दे दिया और उसे अपने लंड पर बिठाने लगा.

श्लोक के लंड को पकड़ कर वीना ने अपनी चूत पर लगाते हुए सेट किया और बैठने लगी. ऐसा लग रहा था जैसे वीना श्लोक के लंड के नीचे पिलने के लिए ज्यादा ही उत्साहित थी. श्लोक के लंड को अपनी चूत में लेते हुए वो श्लोक की गोद में बैठ गयी.

वीना को लगा कि श्लोक नीचे आ गया है. अब जो करना है वीना को ही करना है. वो जैसे उस पर विजय सोच रही थी. मगर ऐसा सोचना वीना की बहुत बड़ी गलती थी. वो दरअसल श्लोक के जाल में एक मछली की भांति फंस गयी थी.

कहानी अगले भाग में जारी रहेगी. वीना और श्लोक की मस्त चुदाई के बारे में आगे जानने के लिए कहानी का अंतिम भाग जल्द ही आपके सामने होगा. महायाराना के आगाज़ में चुदाई का अभी आखिरी सीन बाकी है.

महायाराना के इस भाग के बारे में अपने विचार जरूर प्रकट करें.
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top