मारवाड़ी सेक्सी लेडी को पटाकर चोदा

(Rajasthani Bhabhi Sex Story: Marwadi Sexy Lady Ko Patakar Choda)

मारवाड़ी सेक्सी लेडी की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने फेसबुक पर मारवाड़ी भाभी से दोस्ती की. हम खुल कर बात करने लगे. एक दिन उन्होंने मुझे अपने शहर में बुलाया और …

आप सभी लोगों को मेरा नमस्कार. मुझे अपना परिचय देने की जरूरत नहीं है, आप सभी लोग मुझे अच्छे से जानते हो. मैं महाराज राज बिलासपुर छत्तीसगढ़ से आप लोगों के सामने फिर एक सच्ची घटना लेकर आपके सामने आया हूँ.
मेरी पिछली कहानी थी
प्यासी भाभी ने चुदाई के लिए घर बुलाया

ये सेक्स कहानी मेरी और दुर्ग में रहने वाली मारवाड़ी सेक्सी लेडी की है.

मैं आपको उनके बारे में बता देता हूँ. वो गजब की माल हैं. उनका फिगर 36-34-40 का है. उनका नाम स्वीटी बदला हुआ है.

हुआ यूं कि एक दिन मैं फेसबुक चला रहा था कि मुझे एक प्रोफाइल दिखी, जिसमें नाम स्वीटी लिखा था.

मैंने रिक्वेस्ट डाली तो कुछ ही मिनट में रिक्वेस्ट एकसेप्ट हो गई. अब मैंने मैसेंजर से उनको हाय लिखा.
तुरंत रिप्लाई आया- हाय.

आगे कुछ बात हुई. मैंने पूछा- आप कैसे हो, कहां से हो.
तो उन्होंने बताया- मैं दुर्ग में रहती हूं. लेकिन मारवाड़ी हूँ.–
मैंने ओके बोला. फिर हल्की फुल्की बात शुरू हुई. उस दिन वो ऑफलाइन हो गईं. दो दिन तक स्वीटी से नार्मल हैलो हाय बस हुई.

फिर एक दिन.

मैं- हैलो!
वो- हैलो.
मैं- आप तो आजकल बात ही नहीं कर रही हैं.
वो- नहीं … ऐसी कोई बात नहीं है.
मैं- तो कैसी बात है?
वो- कुछ नहीं.
मैं- कुछ तो.

वो बिना कोई उत्तर दिए ऑफलाइन हो गईं.

एक घंटे बाद उनका मैसेज आया- हैलो.
मैं- हैलो … आप तो बिना कुछ रिप्लाई दिए ऑफ हो गई थीं.
वो बोलीं- मेरे हस्बैंड आ गए थे.
मैं बोला- ओह्ह … मतलब आपकी शादी हो गई है.

वो बोलीं- हां दस साल हो गए हैं … एक बच्चा भी है मेरा.
मैंने पूछा- कितना बड़ा हो गया है … क्या है बेबी ब्वॉय है या बेबी गर्ल?
वो बोलीं- मेरा बेटा 8 साल का है.

मैं बोला- ओके … पर आप लगती नहीं हो कि आपकी शादी हो गई है.
वो बोलीं- अच्छा … सच बताओ!
मेरी तारीफ़ से स्वीटी खुश हो गई थी.

मैं बोला- हां एकदम सच बता रहा हूँ.
फिर मैंने उनसे पूछा- आप व्हाटसअप पर हो?
उन्होंने बोला- क्यों?
मैं बोला- नंबर दो … उधर ही बात करेंगे.

उन्होंने बोला- ओके दे तो दूंगी … लेकिन जब मैं मैसेज करूं, तभी मैसेज करना … और कॉल कभी मत करना.
मैं बोला- ओके नहीं करूंगा.

उन्होंने 2 दिन तक मुझे घुमाया, पर नंबर नहीं दिया.

फिर अचानक उन्होंने मेरा नंबर पूछा, तो मैंने अपना नंबर दे दिया.

उन्होंने फिर दो दिन ले लिए … इसके बाद व्हाटसअप में मैसेज किया.

मैंने डीपी देखी, तो ये वही फेसबुक वाली फोटो थी … मैं समझ गया कि आज मैडम ने मूड बना लिया है.

फिर उनके साथ गुडमॉर्निंग, गुड नाईट चालू हुआ. थोड़ा खुल कर बात भी होने लगी.

इसके बाद मैडम से कुछ ज्यादा ही दोस्ती हो गई. तो मैंने कहा- कभी लाइव भी आ जाइए.
वो हंस दीं और उस दिन वीडियो कॉल पर बात हुई.

मैं तो उन्हें देखते ही रह गया. क्या कांटा आइटम था … बड़ी मस्त दिख रही थी. थोड़ी सांवली थी, पर गजब की कसावट थी. मैंने जी भर के तारीफ़ की.

स्वीटी डार्लिंग और खुश हो गईं.

इसके बाद 5-7 दिन यूं ही बात होती रही. मैं अब कुछ फ्रेंक हो गया था. मैंने बोला- आप कॉल पर बात करो न.

उन्होंने बोला- कल करूंगी, जब पति ड्यूटी चले जाएंगे.
मैंने पूछा- काहे की ड्यूटी करते हैं?
वो बोली- सरकार की.
मैंने पूछा- अरे यार मजाक नहीं. आप बताओ न किस विभाग में जॉब करते हैं.
उन्होंने हंस कर बताया कि वो शिक्षा विभाग में बड़े अधिकारी हैं.

इसके बाद हमारी चैट इस बात पर बंद हो गई कि कल वो मुझसे फोन पर बात करेंगी.

अगले दिन स्वीटी का कॉल आया- हैलो.
मैंने हैलो … कहा … और बात शुरू हो गई.

मैंने हाल चाल पूछा, तो मैडम लम्बी सांस भरते हुए बोलीं- हांआ … ठीक ही है.
मैं बोला- आते ऐसे क्यों बोल रही हैं … क्या हुआ … कोई दिक्कत है. मुझे बताओ न.
वो पलट कर तुरंत बोलीं- ये सब कॉल पर नहीं … कभी मिल कर बताऊंगी.

मैं- ओके … बताओ न … कब मिलोगी?
वो बोलीं- समय आएगा, तो मिल है लूंगी.
मैं बोला- ठीक है … जैसा आप बोलो.

इसके बाद वो मारवाड़ी सेक्सी लेडी मुझसे बिंदास होती चली गईं और मुझे तो जैसे पूरी छूट मिल गई थी.

एक दिन मैंने बोला- आप बहुत क्यूट हो.
वो बोलीं- थैंक्स. तुम मेरी तारीफ़ करते हो तो सच में मुझे बड़ा अच्छा लगता है.
मैंने कहा- आपको क्या लगता है … मैं आपकी झूठी तारीफ़ करता हूँ?
वो बोलीं- झूठी सच्ची तो नहीं मालूम मगर मेरी तारीफ़ कोई करे, तो मुझे अच्छा लगता है.

तो मैंने कहा- एक बार वीडियो कॉल पर आओ … तो देख कर एक एक हिस्से की तारीफ़ करूंगा.
वो इठला कर बोलीं- एक एक हिस्से की कैसे करोगे?
मैंने कहा- मैं देखता जाऊंगा और तारीफ़ करता जाऊंगा.
वो हंस दी- अभी नहीं यार … फिर कभी. अभी मुझे काम है.

फिर उन्होंने कॉल काट दिया.

इसके ठीक बाद मैसेज आया- मैं क्या और कितनी क्यूट हूँ?
मैं बोला- आप पूरी की पूरी क्यूट हो. मैंने आपकी झील सी गहरी आंखें देखी हैं … बड़ा नशा भरा है उनमें.
वो बोलीं- और?
मैं- आपके गाल.
फिर वो बोलीं- और?
मैं बोला- और क्या … अभी तक जो दिखा वो मैंने बताया.

उन्होंने बोला- और क्या देखना है?
मैं बोला- आपको पूरा देखना है.
वो बोलीं- देख तो लिया था. अब क्या बाकी बचा है?
मैं बोला- आप समझदार हो … मैंने क्या देखा है और क्या नहीं देखा है … ये तो आप खुद ही बताओ.

इस पर वो कुछ नहीं बोलीं और बाय बोल कर ऑफ हो गईं.

फिर करीब रात को 11 बजे मैसेज आया. स्वीटी बोलीं- हैलो.
मैंने भी रिप्लाई दिया.

फिर बोलीं- क्या देखना बाकी रह गया था.
मैंने कुछ रिप्लाई नहीं दिया.

उन्होंने बोला- खुल कर बोल दो, जो मन में हो.
मैंने बोला- बुरा तो नहीं मानोगी?
वो बोलीं- नहीं मानूंगी.
मैं बोला- मुझे आपको पूरा देखना है ऊपर से नीचे तक.
वो बोलीं- तो देख लो.
मैं बोला- दिखाओ.

तो उन्होंने व्हाटसअप पर मुझे अपने चूचों की और झांट रहित चूत की पिक भेजी.

मैंने बोला- मस्त हैं … मगर ऐसे नहीं … आपके लाइव दिखाओ.
वो बोलीं- वो भी दिखा दूंगी … सब्र करो.

इस वक्त वो गर्म थीं. मैंने चुदाई की बातें शुरू कर दीं.

मैडम से अब सेक्स की बातें शुरू हो गई थीं. हम दोनों लगभग रोज ही सेक्स क्लिप्स उनको भेजने लगा था.

करीब 15 से 20 दिन बाद मारवाड़ी सेक्सी लेडी बोला- कल संडे है … मेरे घर पर कोई नहीं रहेगा. क्योंकि पति और बच्चा अपनी दादी के घर जा रहे हैं. मैं घर में अकेली रहूंगी. अगर तुम मेरे घर दुर्ग आ सकते हो, तो आ जाओ.

मैं बोला- ओके सुबह आता हूँ. आप एड्रेस भेज दो.
उन्होंने कहा- आकर फोन करना.

मैंने ओके लिखा और चैट बंद हो गई.

अब मैंने घर पर बहाना मारा कि मैं दोस्तों के साथ घूमने जा रहा हूँ. रात तक आ जाऊंगा.

इसके बाद मैं सुबह 9 बजे ट्रेन पकड़ कर 12 बजे तक दुर्ग पहुंच गया. वहां जाकर मैंने कॉल किया.

स्वीटी डार्लिंग ने कॉल उठाया.
मैंने बताया कि मैं स्टेशन पर आ गया हूँ.
उन्होंने बोला- ओके तुम वहीं दस मिनट रुको … मैं तुम्हें लेने आती हूँ.

मैंने ओके बोला और बाहर आकर मैडम का इंतजार करने लगा. वो कुछ मिनट में ब्लैक हौंडा सिटी लेकर आ गईं. मैडम खुद कार चला कर आई थीं.

उन्होंने फोन किया कि स्टेशन के बाहर मेरी काली हौंडा सिटी खड़ी है. मैं ही ड्राइविंग सीट पर हूँ … आ जाओ.

मैंने देखा तो हाथ उठा कर उनको विश किया. उन्होंने देख लिया और मुझको गाड़ी में आने का इशारा किया.

मैं जाकर मैडम के बगल वाली सीट पर बैठ गया. उन्होंने गाड़ी स्टार्ट की और चल दीं. मैडम ने रास्ते में मुझसे कोई बात नहीं की. मैंने भी नहीं की.

कोई बीस मिनट के बाद हम दोनों उनके घर पहुंच गए. उनका बंगला एक कालोनी में घर था. बड़ा शानदार घर बना हुआ था.

उन्होंने ताला खोला और अन्दर आने को बोलीं.

मैं अन्दर गया तो उन्होंने दरवाजा लॉक किया और मुझे बैठने का बोल कर अन्दर चली गईं. मैं मैडम की मटकती हुई गांड देखता रहा. कुछ देर बाद मैडम जब पानी लेकर आईं, तो मेरा नशा हिरन हो गया. क्या छंटा हुआ माल मेरे सामने खड़ा था.

जब वो मुझे लेने गई थीं, तब वो सूट पहने हुई थीं. मगर अभी जब पानी देने के लिए मैडम आईं, तो वो साड़ी में थीं. बड़े गले के ब्लाउज में मैडम क्या गजब की आइटम दिख रही थीं.

जब उन्होंने झुक कर मुझे पानी दिया. तो मैंने उनके मम्मों के देखते हुए पानी लिया. मेरी नज़रें उनके मम्मों में अटक गई थीं. मैं तो जैसे पागल हो गया था.

ये सब उन्होंने भी देख लिया और बोलीं- ऐसे मत देखो.

मैं कुछ नहीं बोला.

फिर मैडम बोलीं- कितने बजे तक के लिए आए हो?
मैं बोला- मुझे 6 बजे तक घर के लिए निकलना है.

ये सुनकर उन्होंने अपने पति को कॉल किया और पूछा- आप कब तक आओगे?
पति ने बोला- मैं 5 बजे तक पहुंच जाऊंगा.

स्वीटी ने मुझे बताया और उनका मुँह उतर गया.

मैं बोला- कोई बात नहीं … अपने पास काफी समय है.
उन्होंने बोला- चलो पहले खाना खा लो.
मैं बोला- मैंने ट्रेन में बहुत नाश्ता कर लिया है … अब देर मत करो.
उन्होंने हंस कर मुझसे बोला- ओके … अन्दर चलो.

हम दोनों उनके बेडरूम में आ गए. अन्दर बेडरूम में जाते ही मैं उनको पीछे से जकड़ लिया और हग करने लगा.

मैं मैडम को पीछे से ही चूमने चाटने लगा. उनकी भी रजामंदी थी तो मैं कभी उनके चिकने गालों पर, तो कभी गर्दन में चूमे जा रहा था.

स्वीटी मैडम की मनमोहक आवाज निकल रही थी- आह आह.

मैंने उन्हें तुरंत सीधा किया और एक मिनट में नंगी कर दिया … और खुद भी नंगा हो गया.

स्वीटी मैडम ने मेरा खड़ा लंड देखा तो मस्त हो गईं.

अब मैंने स्वीटी मैडम को बेड में लिटाया और उनके मम्मों को चूसना शुरू कर दिया. वो आआहा … उन्ह … आआह … करने लगी थीं.

मैंने पूछा- मजा आ रहा है?
स्वीटी मैडम बोल रही थीं- हां … पर धीरे धीरे चूसो … ओर चूसते रहो … मुझे बहुत मजा आ रहा है.

मैंने चूसते चूसते उनकी चूत में हाथ लगा दिया. स्वीटी मैडम की चूत एकदम चिकनी थी और हल्की गीली हो गई थी.

मेरे हाथ लगाते ही उन्होंने अपने पैर पूरे खोल दिए. मैंने चुत को हल्का सा रब किया, तो उन्होंने गजब की आवाजें निकानी शुरू कर दीं

मैंने पूछा- कब से नहीं चुदी हो?
तो बोलीं- काफी दिन हो गए हैं … मेरे पति मुझ पर ध्यान ही नहीं देते हैं.
मैंने बोला- कोई बात नहीं जान … आज मैं पूरा ध्यान लगा दूंगा.

बस मैंने नीचे को सरक कर उनकी चूत चाटना शुरू कर दिया.

स्वीटी मैडम की तेज स्वर में ‘उम्म उम्म … आह … क..क्या खा ही जाओगे.

मगर मैंने कुछ नहीं कहा बस चुत चाटता चला गया.

उनकी आह निकलती रही- आंह … चाट डालो … उन्ह … ऐसे ही चाटो … हां और अन्दर तक चाटो..

स्वीटी मैडम मेरे सर को अपनी चूत में दबा रही थीं. दो मिनट चुत चाटने के बाद वो एकदम झड़ कर ढीली पड़ गईं.
मैंने अपनी जीभ से पूरी चूत साफ की … और उनका पूरा पानी चाट डाला.

अब मैं खड़ा हुआ तो स्वीटी मैडम ने बिना देर किए मेरे लंड को मुँह में ले लिया. वो भी करीब दो मिनट तक लंड चूसती रहीं.

उसके बाद स्वीटी मैडम ने बोला- अब मेरी चूत में अपना लंड डाल दो … मुझसे सहा नहीं जा रहा है.

मैंने भी बिना देर किए लंड चूत में सैट किया और एक धक्का मार दिया. मेरा सुपारा चुत की फांकों को फैलाता हुआ जैसे ही अन्दर गया, तो स्वीटी मैडम की तेज आह निकल गई.

वो बोलने लगीं- उई मां मर गई … बाहर निकालो … बहुत मोटा है.

मैं शांत हो गया और उनको किस करने लगा. स्वीटी मैडम के दूध दबाने लगा.

एक मिनट से भी कम समय में स्वीटी मैडम थोड़ा शांत हो गईं. मैंने धक्का मारके अपना पूरा लंड स्वीटी की चूत में डाल दिया और उनको हचक कर चोदने लगा.

स्वीटी मैडम भी ‘सीइ सीई अंहा … हा हा … ऊऊऊ … ऊं..ऊं … ओह्ह … बहुत अन्दर तक जा रहा है … ओह्ह …’ कर रही थीं. मैं भी स्वीटी मैडम को चोदते हुए मस्त आवाजें कर रहा था.

कुछ आधा घंटे की चुदाई के बाद स्वीटी मैडम बोलीं- आंह जानू और तेज चोदो … और जोर से … मेरी जान बड़ा मस्त मजा आ रहा है … और जोर से करो.

मैं समझ गया कि स्वीटी मैडम की चुत रस छोड़ने वाली है.

तभी उन्होंने गांड उठाते हुए बोला- आंह … जोर से करो … बस मेरा पानी निकलने वाला है.

मैं मारवाड़ी सेक्सी मैडम को ताबड़तोड़ चोदता चला गया … और वो झड़ गईं.

मैं अब भी उन्हें चोदता रहा … क्योंकि मेरा वीर्य अभी निकला नहीं था.

फिर कुछ तेज धक्कों के बाद मेरा भी होने को हुआ … तो मैंने पूछा- अमृत कहां लोगी?
वो बोलीं- अन्दर मेरी चूत में अपना माल गिरा दो.

मैंने लंबी सांस लेते हुए अपना वीर्य स्वीटी मैडम की चूत में डाल दिया … और अलग होकर उनके बगल में लेट गया.

उन्होंने मुझसे कहा- आई लव यू … अब जब भी मुझे मौका मिलेगा, मैं तुम्हें बुला लूंगी.

हम दोनों उठे और कपड़े पहने.

तब तक घड़ी की तरफ देखा, तो ढाई बजने वाले थे.

मैंने बोला- अब क्या इरादा है मेरी जान.
मारवाड़ी सेक्सी लेडी मेरी तरफ नशे से देखा और बोला- अभी मन नहीं भरा है.

ये कह कर वो कुछ शांत हो गईं और उन्होंने मुझे जकड़ लिया.

इससे मुझे लगा कि अभी मारवाड़ी सेक्सी मैडम को दुबारा चुदने का मन है … तो मैं उन्हें चूमने सहलाने लगा.

हम दोनों में 69 में सेक्स होने लगा.

कुछ देर बाद मैंने उनके ऊपर चढ़ कर एक धक्का मारा और अपना पूरा लंड स्वीटी मैडम की चूत में डाल दिया. लंड अन्दर जाते ही मैं उनको धकापेल चोदने लगा. वो भी मस्त आवाजें निकालते हुए मुझसे चुदने लगीं.

मैं भी पूरी मेहनत से उनको लंड का सुख दे रहा था.

वो अपनी दोनों टांगें हवा में उठाते हुए बोलीं- आह और चोदो … और जोर से … मेरी जान मस्त मजा आ रहा है. मेरा पानी निकलने ही वाला है.

मैं चोदता गया और वो झड़ गईं. मैं उन्हें चोदता रहा. फिर 10 से 12 धक्कों के बाद मेरा भी होने को हुआ तो मैंने लंबी सांस लेते हुए अपना वीर्य मैडम की चूत में डाल दिया.

फिर मैं अलग हुआ और लम्बी लम्बी सांसें लेने लगा.

मैडम ने मुझे चूमा और बोलीं- सच में मेरी आग शांत हो गई … आई लव यू जान.
मैंने भी मैडम को ‘लव यू..’ कहा … और खड़ा हो गया.

अब हम दोनों ने उठ कर कपड़े पहने.

मैंने बोला- अब मेरे को जाना चाहिये.
उन्होंने बोला- ओके.

फिर मैडम ने मुझे हग किया और हम दोनों बाहर आ गए.

मारवाड़ी सेक्सी लेडी गाड़ी से मुझे स्टेशन छोड़ने आईं. गाड़ी से स्टेशन पहुंते ही उन्होंने मुझे गाड़ी के अन्दर हग किया और एक जोरदार किस किया. मैं गाड़ी से उतर कर चल दिया. वो भी निकल गईं.

मैं शाम को 9 बजे घर पहुंच गया. उसके बाद में मैं मैडम से कई बार मिला और उन्हें खूब चोदा.

दोस्तो, मेरी ये मारवाड़ी सेक्सी लेडी से सेक्स की कहानी आपको कैसी लगी … आप मेल करके जरूर बताना. अब मैं अपनी अगली सेक्स कहानी तक के लिए आपसे विदा लेता हूँ.

मेरी मेल आईडी है
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top