जवान लड़की की बुर चुदाई की कहानियाँ

जवान लड़की को प्रेम प्यार के चक्कर में फांस कर सेक्स का मजा लेने या अपनी अन्तर्वासना शांत करने के लिए चूत चुदवाने वाली कहानियाँ हिंदी में

jwan Ladki Ko Prem Pyar ke chakkar me fans kar sex ka maja lene ya apni antarvasna shant karne ke liye bur chudvane vali kahaniyan

Indian Sex stories of teen girls and Boys

मेरी पहली मांग भराई-1

मेरी उम्र बीस साल की है, मैं बी.ए प्रथम वर्ष की छात्रा हूँ। वैसे तो मेरे इस वक़्त कई बॉयफ्रेंड हैं और मैं सबको एक साथ सम्भालना भी जानती हूँ। हर किसी को उसकी जगह पर रखना मुझे खूब आता है। क्या करूँ बचपन भी एक चालू से माहौल में बीता, फिर स्कूल में ही चालू लड़कियों से मेरी दोस्ती हो गई।

मेरे दोस्त की प्रेमिका

By विक्की एक्सिस On 2008-08-11 Tags:

संपादक : मारवाड़ी लड़का मेरा नाम विक्की, राजकोट (गुजरात) में रहता हूँ। यह मेरी तीसरी कहानी है अन्तर्वासना पर। यह कहानी है मेरे दोस्त विशाल की प्रेमिका अवनी और मेरी ! विशाल मेरा बहुत ही करीबी दोस्त था। हम दोनों रोज एक ही साथ घूमते थे और साथ साथ ही मस्ती करते थे। उसकी एक […]

कॉलेज़ की हवा लग गई

हम रोज़ मिलते तो वो मेरे स्तन दबा देता था और कभी मेरे चूतड़ भी। वो मुझे फ़ोन पर ब्लू फिल्म दिखाया करता था तो मेरे चुदने की तो बहुत इच्छा होती थी।

मर्द तलाशती फ़िरती हूँ

मैं हर जगह अपने लिए मर्द तलाशती फ़िरती हूँ, अपना बदन दिखाती फ़िरती हूँ, अक्सर सड़क पर चलते-चलते मैं मर्दों की पैन्ट का उभार सहला देती हूँ, कहीं बैठती हूँ तो टांगें फ़ैला कर! ताकि लोग मेरी चूत के दर्शन कर सकें!

प्रिया की नथ-3

प्रिय पाठको, यह मेरी कहानी प्रिया की नथ का तीसरा भाग है, मैंने प्रिया के साथ जब से सम्बन्ध बनाये तो मेरी तो चांदी हो गई थी, जब भी मेरा मन करता मैं उसे क्लास में रोक कर चूसता रहता, उसके मुलायम मम्मे मैं अपने हाथ में लेकर दबाता ही रहता। रोज़ मैं उसके मम्मे […]

प्रिया की नथ-2

दोस्तो, यह मेरी पिछली कहानी ‘प्रिया की नथ’ का दूसरा भाग है, मैंने पहले भाग में बताया था कि मैं प्रिया की नथ उतार चुका था और वो मुझसे प्यार करने लगी थी। मगर मेरी गर्लफ्रेंड कोई और ही थी और वो यह बात जानते हुए भी मुझ से चुदी थी, अब प्रिया का मन […]

मेरी सोनी मेरी तमन्ना-1

By नब्बू खान On 2008-05-02 Tags:

हाय पाठको, मैं नागपुर में रहता हूँ मेरा नाम नब्बू हैं और उम्र 25 साल है। मैं एक सरकारी कंपनी में काम करता हूँ और मैं अच्छा खासा कमा लेता हूँ। मेरे घर में मेरी माँ और छोटा भाई जो मुझ से सात साल छोटा है। मैं आप लोगों का ज्यादा समय न लेते हुए […]

बरसात की हसीन रात

उसकी चूत की खुशबू से मुझे जैसे नशा सा चढ़ने लगा था, मैंने उसकी पैंटी उतार कर देखा कि उसने चूत से बाल साफ़ कर रखे थे। उसकी चूत गुलाबी थी, मैंने अपनी जुबान से उसको चूसना शुरू किया। वो और उछलने लगी और मेरे सर को जोर से दबाने लगी।

सोनू से ननदोई तक-2

लौड़े का स्वाद मेरी फुद्दी के कोरे-कोरे गुलाबी होंठों को लग चुका था, उधर शेर के मुँह को मेरी जवानी का खून लग चुका था, आग दोनों तरफ पूरी-पूरी लग चुकी थी।

सम्भोग प्रबन्धन

प्रेषक : लवगुरु खान सभी पाठकों के उत्तेजित भरे लिंगों एवं योनियों को आदित्य शर्मा, रांची के लंबे लिंग का सलाम। मैं एक बड़े महाविद्यालय से वाणिज्य प्रबंधन में प्रतिष्ठा कर रहा हूँ, यह अंतिम वर्ष है, मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ । बात दो दिन पहले की है जब मैंने अपने जीवन का […]

पति के सामने नताशा

उसने मुझे कन्धों से पकड़ कर नीचे की ओर झुकाया। मैं उसके सामने घुटनों के बल बैठ गई और मैंने धीरे से आलोक की पैंट खोल कर उसके लिंग को अन्डरवीयर से बाहर निकाला।

मेरी अन्तर्वासना – सेक्सी स्वाति

मेरे कई प्रेमी बहुत चकित हो जाते हैं कि सुबह मेरी आंख खुलने से लेकर रात को सोने तक, मैं चुदाई के बारे में उससे भी अधिक सोचती हूँ जितना वे सोचते होंगे!

देसी गर्ल ज़ीनत की जवानी

थोड़ी देर बाद जेनी सो गई और मेरी अन्तर्वासना जाग गई। अजीब सा नशा या पागलपन सवार था। मुझे तो बस दिख रहा था तो जेनी का गदराया हुआ बदन और उसकी चूत की छवि जो एक बार देखी थी।

गांव की छोरी की चूत और गांड मारी

वो नींद में थी. मैंने भी मौके का फायदा उठा कर उसकी चूची पर हाथ रख दिया. उसने सलवार-कमीज पहना हुआ था. मैंने उसके कमीज़ में हाथ डाल दिया उसने ब्रा नहीं पहनी थी.

इस पल के इन्तजार में

सभी अन्तर्वासना के पाठकों को सोनू भाई का नमस्कार। यह मेरी अन्तर्वासना पर चुदाई की पहली कहानी है। मेरी इस कहानी को पढ़ने के बाद सभी चूतें फड़कने लगेंगी और लण्ड तोप की तरह तैयार हो जाएँगे। मेरी उम्र 23 साल है और मैं कालेज का छात्र हूँ। मेरी क्लास में एक लड़की थी जिसे […]

मैं हूँ इंडियन देसी लड़की सानिया

मजा आ गया था तुम्हारी चिकनी टाँगें सहला कर! वो तो बीच में तुम्हारी सहेली आ गई, नहीं तो तुम्हारी स्कर्ट उठा कर तुम्हारी जांघें चूम लेता और वो… वो… तुम्हारी च… चू…

कसी हुई चूत फाड़ दी मैंने

शाम को जब मैं अपनी गाड़ी से घर वापस जा रहा था तो मैंने देखा कि नहर किनारे एक लड़की पेशाब कर रही थी और गाड़ी की रोशनी उसके चूत पर पड़ गई थी जिससे मुझे मूत निकलती चूत के दर्शन हो गए।

यौन क्षुधा यानि चूत चुदाई की प्यास

आज शाम को फ़िजां में थोड़ी ठण्डक हो गई। मैं अपना छोटा सा कुर्ता पहन कर छत पर आ गई। ऊपर ही मैंने ब्रा और चड्डी दोनों उतार दी और एक तरफ़ रख दी। मेरी टांगों के बीच ठण्डी हवा के झोंके टकराने लगे।

Scroll To Top