हास्य रस- चुटकुले

चुटकले, मजकिया रोचक घटनाएँ, हास्य कविता हास्य व्यंग्य, हास्य रस चुटकले, नोन वेज चुटकुले एडल्ट जोक्स

Adult Jokes Sexy Non-veg Jokes, Indian Sex Jokes, Hindi Sex Santa Banta, Salma Irfan, Pappu Jokes

पूरी दुनिया ऑनलाइन होने की ओर भाग रही है

पूरी दुनिया ऑनलाइन होने की ओर भाग रही है। बची खुची कसर मेरे मोहल्ले के धोबी और नाई ने अभी हाल ही में पूरी कर दी। कल मैं प्रेस के लिए कपड़े डालने गया तो पाया कि उस दुकान का नया नामकरण हो गया है- सफेदधुलाईकॉम। बात दुकान के नए नामकरण की होती तो फिर […]

ऐसी दुल्हन चाहिए

लेखक : बदतमीज़ न गोरी न साँवली, इक छैल-छबीली दुल्हन चाहिए। कुछ खुले विचारों की, कुछ शर्मीली दुल्हन चाहिए। – भारतीय मन हो, सरल हो, सीधी-सादी हो जवान तन उसका, फूलों की महकती वादी हो मुदु भाषिणी मधुर सुरीली दुल्हन चाहिए। कुछ खुले विचारों की, कुछ शर्मीली दुल्हन चाहिए। – नहीं चाहिए ससुर जी का […]

फेसबुक पे लड़ी जो अंखियाँ, जल रही सारी सखियाँ

फेसबुक पे सखीयन ने जबरन मेरा दिया दिया खुलाय, खाता दिया खुलाय, फोटो नये नये डलवाये! कछू सखियन ने कह दिया कि नित नये फ्रेण्ड बनाना, उमर पर तुम मत जाना! प्रेम करो चाहे इश्क लड़ाओ, बने बात तो शादी रचवाओ वरना टाइमपास कराओ! वरना टाइमपास कराओ, रोज पकड़ इक बांका बुढ्ढा सा कोई मुर्गा! […]

लड़कियों की मारता हूँ

यह कहानी केवल मनोरंजन के लिए है जिनका वास्तविक जीवन से कोई संबंध नहीं है। मैं मध्यप्रदेश के एक गाँव की रहने वाली हूँ, मेरा नाम मोहिनी है, उम्र 23 साल है। यह बात आज से 4-5 साल पहले की है, मैं गांव से 10 मील दूर कॉलेज में पढ़ने के लिए जाती थी क्योंकि […]

सबसे बड़ी टेंशन

एक सुंदर लड़की ने आपसे लिफ्ट मांगी और रास्ते में उसको चक्कर आ गया, उसकी तबीयत खराब हो गई। आप उसे लेकर अस्पताल गए। वहाँ डॉक्टर बोला- बधाई हो! आप बाप बनने वाले हैं। लो हो गई टेंशन… आप बोले- मैं इसके बच्चे का बाप नहीं हूँ! फिर लड़की बोली- यही इसका बाप है। और […]

अकबर और बीरबल: गडरिया

By Antarvasna On 2012-08-25 Tags:

प्रस्तुतकर्ता : छुपा रुस्तम अकबर के दरबार में नौ रत्न थे जिनमें राजा बीरबल ही ऐसा था जो न सिर्फ अकबर को प्यारा था वरन अकबर की रानियों का भी मुंहलगा था। रानियाँ अक्सर बीरबल को चुहलबाजी हेतु जनानखाने में बुला लेती थी। इस बात को लेकर अकबर के अन्य रत्न विशेषकर मुल्ला दोप्याजा ओर […]

छोटी कहानियाँ-2

By Antarvasna On 2012-08-23 Tags:

प्रेषक : हरेश जोगनी अन्तर्वासना के सभी पाठकों को हरेश जोगनी का नमस्कार ! आपके लिए फ़िर कुछ छोटी छोटी कहानियाँ लेकर आया हूँ। ये सारी कहानियाँ झूठी हो सकती हैं। चुप हो जा एक घर में झगड़ा चल रहा था : औरत- साले भड़वे, कुछ काम धंधा कर और हमको खिला ! मर्द- ए […]

छोटी कहानियाँ-1

By Antarvasna On 2012-08-22 Tags:

प्रेषक : हरेश जोगनी अन्तर्वासना के सभी पाठकों को हरेश जोगनी का नमस्कार ! आपके लिए फ़िर कुछ छोटी छोटी कहानियाँ लेकर आया हूँ। ये सारी कहानियाँ झूठी हो सकती हैं। रचना- अजी सुनते हो? टीवी बंद करो और खाना खा लो ! सतीश- रुको न ! अभी हीरो हिरोइन को बेडरूम में ले जाएगा […]

व्यंग्य कथा : अकबर और बीरबल

अकबर ने खुलासा किया- अगर इस देश के प्राणी इतने मूर्ख न होते तो मैं इन पर शासन कैसे कर पाता। और जब तक यह मुल्क़ मूर्खों से भरा रहेगा, तब तक हम और हमारी पीढ़ियाँ यहाँ राज करती रहेंगी।

बदतमीज़ की बदतमीज़ी-2

प्रेषक : बदतमीज़ मुझसे है तेरी शत्रुता तो जान मेरी जान ले। बस याचना है एक तूँ इस याचना को मान ले। बन्दूक रख दे फेंक अब ये हाथ से तलवार दे। इस लाल लँहगे में मुझे अब ढाँक कर तूँ मार दे। दूरी बहुत तड़पा रही है किस तरह इसको सहूँ। सब कुछ भुलाकर […]

बदतमीज़ की बदतमीज़ी : हरिगीतिका छन्द में

फैली सुहानी चाँदनी हर, वृक्ष के पत्ते हिलें। सूखे पड़े दो होंठ के ये, पुष्प चाहूँ फिर खिलें। क्यों रुष्ट हो इस क्षण प्रिये तुम, ना करो शिकवे गिले। सोना नहीं है आज की इस, रात बिन तुमसे मिले। झुककर दिखा ना चूचियाँ यूँ, इस तरह अंदाज से। नारी तुँ होकर बेशरम हम, पुरुष लज्जित […]

Scroll To Top