Sex Stories Archive for October, 2011

हम भी इन्सान हैं-1

On 2011-10-31 Category: पड़ोसी Tags:

प्रेषक : सिद्धार्थ शर्मा सबको मेरा यानि सिद्धार्थ का नमस्ते ! मैं अन्तर्वासना का पुराना प्रसंशक रहा हूँ तो मैंने सोचा क्यूँ न अपनी कहानी भी आप लोगों को बताऊँ। मैं सिद्धार्थ, उम्र 19 वर्ष, लखनऊ का निवासी हूँ। बात पिछले साल की है मेरा इंटर था तो फ़रवरी के महीने में प्रक्टिकल के बाद […]

भाई की रखैल

मैं पूरे घर में नाइटी में घूमती, मेरे इस रूप को देखकर मेरे भाई की नीयत बिगड़ने लगी, वो मेरे रूप सौन्दर्य को घूर-घूर कर देखता, मुझे छूने के बहाने ढूंढता।

मेरी बीवी की दीदी

On 2011-10-29 Category: जीजा साली की चुदाई Tags:

सभी पाठक और पाठिकाओ को मेरा प्यार। मेरा नाम जे.बी. शर्मा है, मैं अन्तर्वासना का पुराना पाठक हूँ। मैं आज आपके लिए मेरे जीवन की एक सेक्सी कहानी प्रस्तुत करने जा रहा हूँ, यह मेरे जीवन की सच्ची कहानी है। मेरी एक साली है सीमा (नाम बदला हुआ है), जो मुझसे उम्र में कुछ महीने […]

पड़ोस की जवान लड़की ने टाईटैनिक देख नंगी होके चुत चुदाई

उसने एक-एक करके कपड़े उतार दिये, क्या तराशा हुआ बदन था, गोल फ़ूली चुची, साफ़ चिकनी गुलाबी चुत, सुन्दर गोल चुतड़ देख कर मेरा शरीर पसीने से तरबतर हो गया।

मुझे शर्म आती है !-1

On 2011-10-26 Category: भाई बहन Tags:

भाई बहन की चुदाई कैसे शुरू हो जाती है, इस कहानी में पढ़ें! जब माँ बाप दोनों काम करते हों, घर में अकेले भाई बहन के बीच सेक्स सम्बन्ध बन सकते हैं.

काम की चाह-3

मेरी चूत लंड लेने के लिए बेचैन थी, इस अचानक हमले को झेल नहीं पाई, ऐसा लगा कि मेरी पहली चुदाई हो रही है, मैं अब तक कुँवारी थी, मेरी चूत में उनका लंड घुसते ही मेरे मुँह से चीख नकल गई

काम की चाह-2

मैं बोली- कल ब्लू फिल्म देखते हुए काफ़ी जोश आ गया है, इसलिए तुम्हारी याद आ रही है, अगर तुम नहीं आओगे तो मैं किसी और से चुदवा लूँगी!

काम की चाह-1

मेरी जांघ पर हाथ रखे रखे कार आहिस्ता आहिस्ता सहलाने लगे तो मेरे तन बदन में एक आग सी लग गई। उनका हाथ मेरी चूत के करीब आता और वापस चला जाता, मेरी चूत गीली हो रही थी।

हैप्पी चोदिंग !

On 2011-10-22 Category: पहली बार चुदाई Tags:

प्रेषक : मुकेश कुमार मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ और कई बार रस भरी कहानियाँ पढ़ कर मुट्ठ मारी है, पर कहानी नहीं आपबीती आज पहली बार लिख रहा हूँ। आशा करता हूँ पाठकों को पसंद आएगी। मैं 30 वर्ष का अविवाहित जवान हूँ और मेरा लौड़ा मस्त मोटा 8″ का है। ऐसा मैं […]

मेरी शुरुआत -2

रात में दोनों चाचाओं ने मुझे चोदा और सुबह 8 बजे श्वेता ने हम तीनों को जगाया। श्वेता ने राधेश्याम और मोहन से पूछा- नया माल कैसा लगा? तो वो दोनों बोले- बहुत बढ़िया है। शायद उसे नहीं पता था कि ये दोनों मेरे चाचा है। दोनों ने 1 लाख मेरे हाथ में रख दिए […]

मेरी शुरुआत -1

चूँकि मैं कुंवारी थी और आजतक किसी ने भी मुझे चोदा नहीं था इसलिए मैं काफी डरी हुई थी। ग्राहक 9 बजे आने वाले थे, मगर मैं नई थी इसलिए श्वेता ने ट्रेनिंग के लिए मुझे बुलाया था

नशा, हवस और प्यार

On 2011-10-19 Category: गे सेक्स स्टोरी Tags:

लेखक : रौनक मेहता अन्तर्वासना के सभी साथियों को मेरा हेलो ! यहाँ पर पहले ही बहुत से गे साथियों की कहानियाँ हैं, जो मैंने पढ़ी। उन्हें पढ़ने के बाद मुझे लगा कि मुझे भी अपने किस्से भेजने चाहिएँ। अन्तर्वासना पर मेरी यह पहली प्रस्तुति है, उम्मीद है आपको पसंद आएगी। यह एक सच्ची आपबीती […]

जरूरतमंद

On 2011-10-18 Category: कोई मिल गया Tags:

अन्तर्वासना के पाठकों को नमस्कार। इससे पहले मेरी कई कहानियाँ जैसे ‘पुसी की किस्सी’, ‘हमने सुहागरात कैसे मनाई’ और ‘परोपकारी बीवी’ आपके सामने आ चुकी हैं। जैसा कि मैंने आपसे पहले ही कहा था कि अपनी जिंदगी में अब तक घटित सैक्स की उन खास बातों को आपके सामने रखूँगा जिन्हें मैं आपको बताकर खुद […]

मैडम की ज़वानी लण्ड की दीवानी

बारिश में मैडम को घर छोड़ने गया तो हम दोनों भीग गए, मैडम ने मुझे घर के अन्दर बुला लिया और गीले कपड़े उतारने लगी, मुझे भी गीले कपड़े उतारने को कहा.

गाँव में प्रियंका मामी

प्रेषक : साहिल हाय दोस्तो, यह बात तब की है जब मैं अपने ननिहाल गाँव में गया हुआ था गर्मियों की छुट्टी में ! एक दिन मैं अपने दोस्त मुकेश के घर गया था और उसी के घर में रुकने की बात थी मेरी रात को। उसके घर में तो मैं वैसे कई बार गया […]

भाभी तेरा भाई दीवाना…

शालिनी राठौर प्रेषक : राज कार्तिक शालिनी भाभी का अपने प्यारे प्यारे दोस्तों को सप्रेम चुम्बन… कितना प्यार करते हैं आप सब मुझे… आप सबकी मेल पढ़ पढ़ कर मैं तो गदगद हो जाती हूँ। बहुत से दोस्त अपने मोटे मोटे लण्ड की फोटो मुझे भेजते हैं जिन्हें देखते ही चूत में गुदगुदी होने लगती […]

आई एम लकी गर्ल-3

मेरे भाई ने मेरी सलवार उतार दी और अब मैं सिर्फ़ सिल्की ब्रा-पेंटी में लेटी थी। वैसे तो वो मुझे पहले नंगी तो देख ही चुका था पर इतने पास से पहली बार देख रहा था।

आई एम लकी गर्ल-2

मैं आपको बताने आ गई हूँ कि उस रात जब मेरे भाई ने मेरी कच्छी सूंघ कर मेरी तस्वीर के सामने कड़े होकर मुठ मारी तो उसके बाद क्या हुआ।

मेरे इम्तिहान की तैयारी-3

On 2011-10-10 Category: गुरु घण्टाल Tags:

हेलो, मैं हूँ गोपी ! जी हाँ, मैं ही हूँ आपकी जानी पहचानी नाजुक सी, सदा खिलखिलाती सी गोलू मोलू सी गोपी भाभी ! आपने मेरी कहानी ‘मेरे इम्तिहान की तैयारी’ के दो भाग पढ़े, अब आगे: फिर मैंने शर्ट जब बंद कर के उसकी तरफ देखा तो उसका चेहरा अब मुझे नर्म लग रहा […]

Scroll To Top